रद्द पासपोर्ट पर तीन देश घूम आया नीरव मोदी, सरकार को पता नहीं चला – Interpol informed Indian agencies that absconding diamond jeweller Nirav Modi travelled four times between three countries

इंटरपोल ने भारतीय जांच एजेंसियों को बताया है कि भगोड़ा हीरा व्यापारी नीरव मोदी भारतीय विदेश मंत्रालय द्वारा पासपोर्ट रद्द किए जाने के बावजूद तीन देशों की चार बार यात्रा कर चुका है। विदेश मंत्रालय ने नीरव मोदी का पासपोर्ट 24 फरवरी को रद्द किया था। वहीं, इंटरनोट के मुताबिक, नीरव मोदी ने ये यात्राएं मार्च महीने में की हैं। 5 जून को भारतीय एजेंसियों को लिखे खत में इंटरपोल ने कहा है कि नीरव मोदी 15 मार्च से 31 मार्च के बीच भारतीय पासपोर्ट पर अमेरिका, ब्रिटेन और हॉन्गकॉन्ग की यात्राएं की। उसने इस पासपोर्ट पर चार बार- 15 मार्च, 28 मार्च, 30 मार्च और 31 मार्च को यात्राएं की।

बता दें कि भारतीय विदेश मंत्रालय ने 24 फरवरी को नीरव और गीतांजलि ग्रुप के प्रमोटर मेहुल चौकसी का पासपोर्ट रद्द कर दिया था। इससे पहले, मंत्रालय ने 16 फरवरी को दोनों के नाम नोटिस जारी करके पूछा था कि क्यों न उनके पासपोर्ट जब्त या रद्द कर दिए जाएं। जवाब न देने पर ऐक्शन लिया गया था। बता दें कि दोनों की कंपनियों के खिलाफ सरकारी बैंक पीएनबी ने 13,500 करोड़ रुपये का चूना लगाने की शिकायत दर्ज कराई थी। आरोप है कि दोनों ने फर्जी लेटर ऑफ अंडरटेकिंग और फॉरन लेटर्स ऑफ क्रेडिट के जरिए बैंक से यह रकम हासिल की।

संबंधित खबरें

पासपोर्ट रद्द किए जाने के आदेश को भारतीय अदालतों में चुनौती दी जा सकती है। हालांकि, अभी तक यह साफ नहीं है कि नीरव और चौकसी ने ऐसा किया है कि नहीं। नियमों के मुताबिक, सरकार के एक बार पासपोर्ट रद्द करने का आदेश देने के बाद एयरपोर्ट और इमिग्रेशन से जुड़े अधिकारियों को इस बात की जानकारी देनी पड़ती है। वहीं, इंटरपोल ने यह चिट्ठी सीबीआई की ओर से जारी उस नोटिस पर लिखा है, जिसमें इंटरपोल से नीरव मोदी के बारे में पता लगाने की दरख्वास्त की गई थी। नीरव मोदी के खिलाफ जनवरी में मामला दर्ज करने के बाद सीबीआई ने इंटरपोल को लिखा था।

बता दें कि नीरव, उसकी पत्नी एमी (अमेरिकी नागरिक), भाई नीशल (बेल्जियन नागरिक) और चाचा चौकसी जनवरी के पहले हफ्ते में देश से भाग चुके हैं। घोटाला सामने आने के कुछ हफ्ते पहले ही वे देश छोड़कर निकल गए। नीरव फिलहाल ब्रिटेन में है, जबकि चौकसी को अमेरिका में बताया जा रहा है। सूत्रों के मुताबिक, नीरव ने सिंगापुर में स्थाई तौर पर रहने के लिए जनवरी के मध्य में आवेदन किया था। इसी हफ्ते सीबीआई ने इंटरपोल से नीरव मोदी और चौकसी के खिलाफ रेड कॉर्नर नोटिस जारी करने के लिए कहा था। नीरव के फिलहाल ब्रिटेन में होने की पुष्टि हो चुकी है।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App



Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *