राम मंदिर मसले पर पहली बार राउंड टेबल कॉन्फ्रेंस, दिल्ली में जुटेंगे क्षत्रिय नेता – Various Kshatriya Organizations of Country have Decided to Organize Round Table on Issue of Construction of Ram Temple in Ayodhya

देश के विभिन्न राजपूत (क्षत्रिय) संगठनों ने अयोध्या में राम मंदिर निर्माण का मसला सुलझाने के लिए दिल्ली में 22 फरवरी को राउंड टेबल कॉन्फ्रेंस आयोजित करने का निर्णय लिया है। क्षत्रिय नेताओं का कहना है कि यह क्षत्रिय समाज से जुड़ा मसला है, क्योंकि राजा राम एक क्षत्रिय थे। इन नेताओं ने दिल्ली के कॉन्स्टिट्यूशन क्लब में एक क्षत्रिय राउंड टेबल कॉन्फ्रेंस बुलाने का निश्चय किया है। यह पहली बार है, जब देश के सभी क्षेत्रिय नेता किसी मसले पर राउंड टेबल कॉन्फ्रेंस कर रहे हैं। इसमें देश के सभी राज्यों से क्षत्रिय संगठन हिस्सा लेंगे। संयोजक कैप्टन कुंवर विक्रम सिंह ने कहा, “हम पहली बार क्षत्रिय राउंड टेबल कॉन्फ्रेंस का आयोजन कर रहे हैं। इसमें हम अपने समुदाय से संबंधित विभिन्न विषयों पर चर्चा करेंगे। इसमें भगवान राजा रामचंद्र, जो एक अवतार भी हैं, के जन्मस्थान अयोध्या में उनका एक मंदिर निर्माण का विषय भी शामिल है।”

उन्होंने कहा कि यह क्षत्रियों का कर्तव्य और अधिकार है कि वे राम मंदिर का निर्माण करें, क्योंकि राम मंदिर निर्माण के लिए जो जगह अभी चिन्हित है वह जयपुर के महाराजा सवाई मान सिंह की ओर से वर्ष 1717 में दान दी गई थी। जो भी सरकार अभी तक सत्ता में आई हैं, वे इस मामले को हल करने में राजनीतिक कारणों से असफल रही हैं और केवल जनता की भावना के साथ खेलती रही हैं।

संबंधित खबरें

कैप्टन सिंह ने कहा कि कॉन्फ्रेंस में राम मंदिर निर्माण के साथ ही मौजूदा सामाजिक व राजनीतिक परिदृश्य और उसमें क्षत्रियों-राजपूतों की भूमिका पर भी चर्चा की जाएगी। इसके साथ ही फिल्म ‘पद्मावत’ रिलीज होने के बाद उत्पन्न स्थिति पर भी विमर्श किया जाएगा। क्षत्रिय समाज इस फिल्म को लेकर सही कदम नहीं उठाए जाने के बिंदु पर आक्रोशित और असहज है। गाइड लाइन पर चर्चा कर उसका मसौदा भी सरकार को सौंपा जाएगा।

 

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App



Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *