स्मृति के मंत्रालय का कार्यक्रम, आखिरी वक्त पर हटा पाकिस्तानी शायर फैज अहमद फैज की बेटी का नाम – name of Pakistani poet Faiz Ahmad Faiz daughter Moneeza Hashmi dropped from Asia Media Summit Information and Broadcasting Minister Smriti Irani present

दिल्ली में 10 मई को आयोजित एशिया मीडिया समिट में मशहूर पाकिस्तानी शायर फैज अहमद फैज की बेटी मोनिजा हाशमी भी बतौर स्पीकर अपने विचार रखने वाली थीं। हालांकि, उनका नाम आखिरी वक्त पर हटा दिया गया। इस बार भारत में पहली बार एशिया मीडिया समिट का आयोजन हुआ था। समिट के 15वें संस्करण का आयोजन सूचना एवं प्रसारण मंत्रालय के अंतर्गत आने वाले दो स्वायत्त संगठनों ने किया था। तीन दिन चलने वाले इस कार्यक्रम का समापन शनिवार को हुआ था। सम्मेलन से जुड़ी वेबसाइट पर उपलब्ध जानकारी के मुताबिक, स्पीकरों के पैनल में हाशमी का भी नाम था। वह ‘Should all good stories be commercially successful’ विषय पर चर्चा करने वाली थीं।

मोनिजा हाशमी को पाकिस्तानी KASHF फाउंडेशन के क्रिएटिव ऐंड मीडिया हेड के तौर पर न्योता भेजा गया था। हालांकि, फाइनल कार्यक्रम के बारे में सूचना एवं प्रसारण मंत्रालय की ओर से 9 मई को जो जानकारी दी गई, उसमें हाशमी का नाम बतौर स्पीकर नहीं था। मंत्रालय के सूत्रों के मुताबिक, वक्ताओं से जुड़े फैसले लेने में चंद लोग शामिल थे और अजेंडा में बदलाव आखिरी मिनटों में किया गया। कार्यक्रम के मेजबानों में से एक इंडियन इंस्टिट्यूट ऑफ मास कम्यूनिकेशन (IIMC) के डायरेक्टर जनरल केजी सुरेश ने बताया कि पैनलिस्ट्स को लेकर उनसे या उनके संस्थान से सुझाव नहीं लिया गया। द इंडियन एक्सप्रेस से बातचीत में उन्होंने बताया कि एशिया पैसिफिक इंस्टिट्यूट फॉर ब्रॉडकास्टिंग डेवलपमेंट (AIBD) और सूचना एवं प्रसारण मंत्रालय ने यह फैसला किया था कि कार्यक्रम में वक्ता कौन-कौन होंगे।

प्रेस इन्फॉर्मेशन ब्यूरो के प्रिंसिपल डायरेक्टर सितांशु कर ने कहा कि उन्हें कार्यक्रम के स्पीकरों के बारे में जानकारी नहीं थी। उन्होंने कहा कि उनसे सम्मेलन के अजेंडे पर कोई चर्चा नहीं की गई, इसलिए उन्हें ‘इस तरह की चीजों की कोई जानकारी नहीं है।’ उधर, सम्मेलन के एक अन्य सह मेजबान ब्रॉडकास्ट इंजीनियरिंग कंसलटेंट्स इंडिया लिमिटेड (BECIL) के चेयरमैन और मैनेजिंग डायरेक्टर जॉर्ज कुरुविला ने मोबाइल पर भेजे गए संदेशों या कॉल्स का कोई जवाब नहीं दिया। सूत्रों का कहना है कि हाशमी को भारत में फैज पर आयोजित कॉन्फ्रेंस में शामिल होने के लिए फरवरी में ‘छह महीने का मल्टीपल एंट्री वीजा’ दिया गया था। हालांकि, उन्हें अन्य कॉन्फ्रेंस में सम्मलित होने की इजाजत नहीं मिली। सूत्रों का कहना है कि मीडिया समिट के आयोजकों को पाकिस्तानी नागरिकों के लिए ‘राजनीतिक क्लियरेंस’ नहीं मिला। वहीं, हाशमी ने इस संबंध में भेजे गए ईमेल का कोई जवाब नहीं दिया।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App



Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *