हिंदी न्यूज़ – अब दिल्ली में भी हुई भुखमरी से तीन बहनों की मौत, जांच में जुटी पुलिस- three sisters died in delhi due to starvation

पूर्वी दिल्ली के मंडावली इलाके में तीन बहनें मृत पायी गई. शुरुआती पोस्टमार्टम रिपोर्ट में इस बात का संकेत है कि उनकी मौत भुखमरी से हुई है. इसके बाद दिल्ली सरकार ने मामले में एक मजिस्ट्रेट जांच का आदेश दिया है. इन तीनों की उम्र दो, चार और आठ साल थी और कल उन्हें दोपहर करीब एक बजे उनकी मां और एक मित्र अस्पताल लेकर आये थे. अस्पताल प्रशासन ने पुलिस को उनकी मौत के बारे में सूचित किया.

पुलिस उपायुक्त (पूर्व) पंकज सिंह ने बताया कि जीटीबी अस्पताल में चिकित्सकों के एक बोर्ड ने पुन: परीक्षण किया. शुरुआती पोस्टमार्टम रिपोर्ट के मुताबिक लड़कियों की मौत‘‘कुपोषण या भुखमरी और उसकी जटिलताओं की वजह से हुई है.’’

पुलिस ने बताया कि एक फोरेंसिक टीम ने उस जगह का निरीक्षण किया जहां परिवार रह रहा था और उन्हें वहां से दस्त के इलाज में इस्तेमाल दवाओं की बोतलें और दवाएं मिलीं हैं. लड़कियों का पिता मजदूर के तौर पर काम करता था और वह कल से लापता है. स्थानीय लोगों का कहना है कि वह काम की तलाश में गया है और कुछ दिनों में लौट आएगा.

ये भी पढ़ें: भुखमरी की कगार पर झारखंड का ये गांव, यहां किसी के पास नहीं है राशन कार्डपुलिस ने बताया कि लड़कियों के शवों पर चोट के कोई निशान नहीं मिले हैं. दिल्ली के उप मुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया ने एक ट्वीट में कहा, ‘‘दिल्ली सरकार ने मामले में एक मजिस्ट्रेट जांच का आदेश दिया है.’’ शुरू में यह प्राकृतिक मौत का एक मामला लगा लेकिन दवाओं की बोतलें मिलने के बाद पुलिस यह सुनिश्चित करना चाहती है कि लड़कियों की मौत में कोई साजिश है या नही.

स्थानीय लोगों का कहना है कि परिवार बीते शनिवार को इलाके में आया था और उनका उनके साथ ज्यादा बात-चीत नहीं थी. लड़कियों का पिता पहले किराये पर एक रिक्शा चलाता था लेकिन वह कुछ दिनों पहले रिक्शा चोरी हो गया जिसके बाद एक मित्र परिवार को इस क्षेत्र में लेकर आया और उसी ने उन्हें अपने घर में शरण दी थी.

ये भी पढ़ें: 21वीं सदी में भी भूख मिटाने के लिए चूहा खाने को मजबूर हैं भारत के लोग

स्थानीय लोगों ने बताया कि बड़ी पुत्री कल स्कूल गई थी. पुलिस इसकी जांच कर रही है कि वह अचानक बीमार कैसे हो गई. पुलिस मामले की हर पहलु से जांच कर रही है. जिसमें लड़कियों का कुपोषण से मरना शामिल है. लड़कियों के पिता का जो मित्र लड़कियों की मां के साथ अस्पताल आया था उसने पुलिस को बताया कि बच्चों की तबीयत खराब थी और वह उन्हें अस्पताल ले गया था.

लड़कियों की मां की ‘‘दिमागी हालत’’ ठीक नहीं है और उसने पुलिस को बताया कि उसे नहीं पता कि उसकी बच्चियों को क्या हुआ और उनकी मौत कैसे हुई.

दिल्ली बीजेपी अध्यक्ष मनोज तिवारी ने केजरीवाल सरकार पर निशाना साधते हुए कहा है ” हम अपेक्षा करते हैं कि तीन बच्चों की भूख से मृत्यु की इस दुखद घटना से केजरीवाल सरकार सबक लेगी और राशन को लेकर राजनीतिक छलावाबाजी करने की बजाय लोगों की बुनियादी जरूरतें पूरी करने पर ध्यान देगी. मनीष तिवारी ने यह भी कहा कि देश की राजधानी जहां राज्य सरकार हर व्यक्ति के घर पर अन्न पहुंचाने की योजनाओं का राजनीतिक प्रचार करती हो वहां प्रदेश के उप मुख्यमंत्री के चुनाव क्षेत्र में ऐसी घटना का होना सबको अचंभित करने के साथ दुखी भी करता है.

Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *