हिंदी न्यूज़ – राजस्थान पुलिस की मदद से दिल्ली महिला आयोग ने युवती को ससुराल से रेस्क्यू कराया-Delhi Commission for Women rescues woman atrocities on woman by in-laws woman alleges husband and in-laws of atrocities

राजस्थान पुलिस की मदद से दिल्ली महिला आयोग ने युवती को ससुराल से रेस्क्यू कराया

राजस्थान पुलिस की मदद से दिल्ली महिला आयोग ने युवती को ससुराल से रेस्क्यू कराया

Rachana Upadhyaya

Rachana Upadhyaya

| News18Hindi

Updated: August 7, 2018, 11:53 PM IST

दिल्ली महिला आयोग ने एक 22 वर्षीय युवती को उसके ससुराल से रेस्क्यू करवाया है. इसके लिए आयोग ने राजस्थान पुलिस की मदद ली. दिल्ली महिला आयोग को युवती की एक दोस्त ने संपर्क कर मदद की गुहार लगायी थी. आयोग ने पीड़ित लड़की से फोन पर बात की. युवती ने बताया कि उसका मायका दिल्ली में है और उसकी शादी राजस्थान के झुंझुनू जिले के एक गांव में हुई. युवती के मुताबिक ससुराल में उसका शोषण किया गया और अब उसके जान को भी खतरा है.

युवती का कहना था कि वो अपने ससुराल में नहीं रहना चाहती. दिल्ली महिला आयोग ने तुरंत राजस्थान पुलिस से संपर्क किया और मामले से अवगत कराया. राजस्थान पुलिस ने एक टीम बनायी और लड़की के ससुराल से उसे रेस्क्यू करवाया. इसके बाद युवती को दिल्ली महिला आयोग लेकर आए.

आयोग में आकर लड़की ने बताया कि उसके पिता ने उसकी शादी उसकी इच्छा के विरुद्ध 12 साल की उम्र में ही कर दी थी. लड़की के मुताबिक उसका पति और उसके ससुराल वाले उसका मानसिक और शारीरिक शोषण करते थे. उसने बताया कि उसके पति ने उसका शारीरिक, मानसिक और यौन शोषण किया. उसने पति पर आरोप लगाया है कि वो बेल्ट से उसकी पिटाई करता था. उसके ससुराल वाले भी उसके साथ मारपीट करते थे. युवती ने बताया कि उसके मायके वालों ने भी उसकी बात नहीं सुनी और उसको कई बार ज़बरदस्ती उसके ससुराल भेज दिया.

लड़की अपने मायके वालों, ससुराल वालों और पति के खिलाफ कार्यवाही चाहती है. इस मामले में राजस्थान के झुंझुनू जिले के खेतड़ी थाने में एक शिकायत दर्ज़ की गयी है. मामले में राजस्थान पुलिस ने एफआईआर दर्ज़ कर लिया है. युवती को अब दिल्ली के एक शेल्टर होम भेज दिया गया है. दिल्ली महिला आयोग लड़की को दिल्ली पुलिस से सुरक्षा दिलवाएगा और उसके पुनर्वास के लिए काम करेगा.दिल्ली महिला आयोग की अध्यक्षा स्वाति मालीवाल ने कहा, ‘आज 21वीं सदी के भारत में भी, ख़ासकर राजस्थान में लड़कियों का बाल विवाह एक बड़ी समस्या है. हमारे सामने दिल्ली में भी बाल विवाह के कई मामले सामने आते हैं. देश में बाल विवाह पर पूर्ण प्रतिबंध लगाने के लिए संबंधित कानूनों का कड़ाई से पालन करवाने और समाज में जागरुकता लाने की बहुत आवश्यकता है. मैं लोगों से अपील करना चाहती हूं कि देश के अच्छे भविष्य के लिए बाल विवाह जैसी सामाजिक बुराई से बचें और अगर आपके आसपास कोई बाल विवाह की घटना होती है तो तुरंत दिल्ली महिला आयोग से 181 पर संपर्क करें.’

और भी देखें

Updated: August 07, 2018 10:04 PM ISTबांकुड़ा में बारिश से आफत, 2500 बेघर

Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *