हिंदी न्यूज़ – DMK leader M karunanidhi dimise, MK Stalin pens emotional poem for father – ‘मैं जिंदगीभर आपको लीडर कहता रहा, क्या आखिरी बार अप्पा कहके पुकारूं’: करुणानिधि के लिए स्टालिन की कविता

तमिलनाडु के पूर्व मुख्यमंत्री और द्रविड़ मुनेत्र कड़कम (DMK) चीफ मुथुवेल. करुणानिधि नहीं रहे. मंगलवार को चेन्नई के कावेरी हॉस्पिटल में उन्होंने आखिरी सांसें लीं. करुणानिधि के बेटे एमके स्टालिन ने एक कविता के ज़रिये अपने पिता को श्रद्धांजलि दी है. स्टालिन ने अपने ट्विटर हैंडल से तमिल में एक कविता पोस्ट की. उन्होंने लिखा- ‘मैं जिंदगीभर आपको लीडर कहता रहा, क्या आखिरी बार अप्पा (पापा) कहके पुकारूं?’ स्टालिन अपने पिता को थलाइवर (बॉस) कहा करते थे.

करुणानिधि का निधन: तमिलनाडु में मूवी शो रद्द, विश्वरुपम- 2 की रिलीज भी संकट में

स्टालिन ने अपने पिता के लिए लिखा, ‘आप जहां भी जाते थे, वह जगह मुझे बताते थे. अब आप मुझे बिना बताए कहां चले गए? आप हमें लड़खड़ाता छोड़ कहां चले गए? क्या अब आपने तय कर लिया है कि आप तमिल समाज के लिए काम कर चुके हैं? या क्या आप कहीं छिप कर देख रहे हैं कि क्या कोई आपके 80 साल के सामाजिक जीवन की उपलब्धियों को पीछे छोड़ सकता है? 3 जून को अपने जन्मदिन पर मैंने आपसे आपकी क्षमता का आधा मांगा था, क्या अब आप अरिग्नार अन्ना से मिले? अपने दिल को भी मुझे देंगे? क्योंकि उस बड़े दान से हम आपके आधूरे सपनों और आदर्शों को पूरा करेंगे.’

स्टालिन ने आखिर में लिखा, ‘मैं आपको अप्पा कहने की जगह अपने जीवन में ज्यादातर समय थलाइवर (बॉस) कहता रहा. क्या कम से कम अब मैं आपको अप्पा कह सकता हूं?’करुणानिधि: जानिए कैसे तमिल फिल्मों के स्क्रिप्‍टराइटर ने बदल दी दक्षिण भारत की राजनीति

करुणानिधि ने तीन शादियां की थीं. एमके स्टालिन करुणानिधि और उनकी दूसरी पत्नी दयालु अम्मल के बेटे हैं. एमके अझागिरी, एकके थामिलारासु और सेल्वी स्टालिन के सगे भाई-बहन हैं. डीएमके ने पिछले साल जनवरी में स्टालिन को कार्यकारी अध्यक्ष बनाया था. हालांकि, करुणानिधि ने पार्टी सुप्रीमो की कमान अपने हाथ में ही रखी थी. ऐसे में माना जा रहा है कि करुणानिधि के निधन के बाद अब पार्टी के कार्यकारी अध्‍यक्ष एमके स्‍टालिन को अध्‍यक्ष बनाया जाएगा.

बता दें कि 94 साल के करुणानिधि की तबीयत काफी दिनों से खराब चल रही थी. ब्लड प्रेशर और यूरिनरी ट्रैक्ट इंफेक्शन की शिकायत के बाद 27-28 जुलाई की रात उन्हें चेन्नई के कावेरी हॉस्पिटल में भर्ती कराया गया था. मंगलवार शाम 6:10 बजे उन्होंने आखिरी सांसें लीं.

करुणानिधि के निधन पर इन हस्तियों ने जताया शोक:

>>राष्ट्रपति कोविंद ने ट्वीट किया, ‘एम. करुणानिधि के निधन के बारे में सुनकर दुख हुआ. ‘कलैनार’ के नाम से लोकप्रिय वह एक सुदृढ़ विरासत छोड़कर जा रहे हैं, जिसकी बराबरी सार्वजनिक जीवन में कम मिलती है. उनके परिवार के प्रति और लाखों चाहने वालों के प्रति मैं अपनी शोक संवेदना व्यक्त करता हूं.’

>>उपराष्ट्रपति एम. वेंकैया नायडू ने करूणानिधि को बहुमुखी व्यक्तित्व का धनी और जुझारू लड़ाका बताया. उन्होंने ट्वीट किया, ‘करुणानिधि 1957 से 13 बार विधानसभा के सदस्य रहे, वह भी सात अलग-अलग सीटों से पांच बार तमिलनाडु के मुख्यमंत्री रहे, यह अपने-आप में जनता के साथ उनके जुड़ाव और राज्य के लोगों पर उनका प्रभाव बताने के लिए पर्याप्त है.’

>>प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने डीएमके प्रमुख एम करुणानिधि के निधन पर शोक जताया है. पीएम ने करुणानिधि को जमीन से जुड़ा हुआ नेता बताया और कहा कि हमारे बीच से एक वरिष्ठ नेता चला गया है. प्रधानमंत्री ने अपने ट्वीट में कहा, ‘इस दुख की घड़ी में मेरी संवेदनाएं करुणानिधि जी के परिवार और उनके लाखों-करोड़ों समर्थकों के साथ हैं. भारत खासकर तमिलनाडु उन्हें बहुत ही याद करेगा. करुणानिधि जी की आत्मा को शांति मिले.’

>>कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने ट्वीट किया, ‘तमिल लोगों के प्रिय कलैनार छह दशक तक तमिल राजनीति के मंच पर विशालकाय व्यक्तित्व के रूप में छाये रहे. उनके निधन से भारत ने अपना महान बेटा खोया है. मेरी संवेदनाएं उनके परिवार और अपने प्रिय नेता के निधन पर शोक मना रहे लाखों भारतीयों के साथ है.’

>>बीजेपी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह ने अपने शोक संदेश में कहा, ‘अनुभवी नेता एम. करुणानिधि जी के निधन की सूचना से शोकाकुल हूं. उनकी जीवन यात्रा बहुत प्रेरक है. तमिल फिल्म उद्योग में पटकथा लेखक के रूप में शुरुआत करने से लेकर पांच बार तमिलनाडु के मुख्यमंत्री रहे हैं. 1975 में आपातकाल के दौरान उनके संघर्ष को कोई भुला नहीं सकता.’

>>तमिलनाडु के मुख्यमंत्री के. पलानीस्वामी ने करुणानिधि को श्रद्धांजलि देते हुए कहा कि उन्होंने राष्ट्रीय राजनीति पर अपनी अमिट छाप छोड़ी है.

>>तमिलनाडु के राज्यपाल बनवारी लाल पुरोहित ने कुरणानिधि के निधन पर शोक जताते हुए पूर्व मुख्यमंत्री द्वारा उनके कार्यकाल में लागू की गई कल्याणकारी योजनाओं की प्रशंसा की.



Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *