हिंदी न्यूज़ – आरक्षण को लेकर मराठों का महाराष्ट्र बंद कल, पुणे में नहीं खुलेंगे स्कूल कॉलेज/9 august maharashtra bandh for maratha reservation

मराठा समूहों के संघ सकल मराठा समाज ने कहा कि नवी मुंबई को छोड़कर पूरा महाराष्ट्र गुरुवार को ‘बंद’ रखा जाएगा ताकि आरक्षण के लिए समुदाय की मांग पर दबाव बनाया जा सके. संगठन के एक नेता ने कहा कि सुबह आठ बजे से शाम छह बजे तक शांतिपूर्ण तरीके से प्रदर्शन होगा.

सकल मराठा समाज के नेता अमोल जाधवराव ने कहा, ‘‘यह राज्यव्यापी बंद होगा जिसमें नवी मुंबई शामिल नहीं होगा. बंद से सभी आवश्यक सेवाओं, स्कूलों और कॉलेजों को अलग रखा गया है. कुछ संवेदनशील मुद्दों के कारण हमने नवी मुंबई में बंद नहीं करने का निर्णय किया है.’’

उन्होंने आश्वासन दिया, ‘‘हम मराठा युवकों से अपील करते हैं कि हिंसा से दूर रहें। हम उग्र प्रदर्शन नहीं करेंगे और सार्वजनिक संपत्ति को नुकसान नहीं पहुंचाएंगे.’’

जाधवराव ने आरोप लगाए कि महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री देवेन्द्र फडणवीस केवल कुछ मराठा लोगों से बात कर रहे हैं और समुदाय के अंदर भ्रम पैदा करने का प्रयास कर रहे हैं. उन्होंने कहा, ‘‘फडणवीस आंदोलन की तीव्रता को कमजोर करने का प्रयास कर रहे हैं.’’मराठा संगठनों के बंद के मद्देनजर महाराष्ट्र के पुणे जिले में स्कूल और कॉलेज के साथ-साथ कई कंपनियों के प्लांट गुरुवार को बंद रहेंगे. जिलाधिकारी नवल किशोर राम ने यहां जारी एक आदेश में कहा कि गुरुवार को सड़क जाम किए जाने की संभावना है और जुलूस निकाला जाएगा. वाहनों पर पथराव और आगजनी की आशंका से इंकार नहीं किया जा सकता.

आदेश में कहा गया है कि इसलिए स्कूल और कॉलेजों को गुरुवार को बंद रखने को कहा गया है और इस सिलसिले में एक परामर्श जारी किया गया है.

जिलाधिकारी ने कहा, ‘‘भले ही प्रदर्शन के दौरान कोई अप्रिय घटना नहीं हो लेकिन सड़कें जाम जा सकती हैं और हम नहीं चाहते हैं कि छात्रों को कोई असुविधा हो और माता-पिता अनावश्यक चिंतित हों.’’

जिलाधिकारी कार्यालय की ओर से जारी एक विज्ञप्ति में कहा गया कि चाकन क्षेत्र में गत 30 जुलाई को हिंसा के दौरान 70 से 80 वाहनों को जला दिया गया था और उन्हें क्षति पहुंचाई गई थी.

विज्ञप्ति में कहा गया है, ‘‘हिंसा में दो स्कूल बसों में आग लगा दी गई थी और छात्रों की जान जोखिम में पड़ गई थी.’’

बंद के मद्देनजर चाकन औद्योगिक क्षेत्र में कई वाणिज्यिक इकाइयों को भी गुरुवार को बंद रखने का फैसला किया गया है.चाकन थाने के वरिष्ठ निरीक्षक संतोष गिरिगोसावी ने कहा, ‘‘चाकन एमआईडीसी क्षेत्र में 1000 से अधिक कंपनियां हैं और उनमें से ज्यादातर ने अपने प्लांट और फर्मों को गुरुवार को बंद रखने का फैसला किया है.’’

उन्होंने कहा कि मराठा क्रांति मोर्चा के सदस्यों के साथ एक बैठक हुई और उन्होंने आश्वासन दिया कि सड़कों को अवरुद्ध नहीं किया जाएगा. यही संगठन पूरे राज्य में मराठों के लिए सरकारी नौकरियों और शिक्षण संस्थानों में आरक्षण की मांग को लेकर आंदोलन का नेतृत्व कर रहा है. उन्होंने बताया कि मोर्चे के सदस्यों ने कहा है कि चाकन में एक स्थान पर धरने का आयोजन किया जाएगा.

जिला पुलिस ने प्रदर्शन के दौरान राज्य आरक्षित पुलिस बल की तीन कंपनियों और रैपिड ऐक्शन फोर्स के एक दल को संवेदनशील क्षेत्रों में तैनात करने का फैसला किया है.

Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *