हिंदी न्यूज़ – केरल बाढ़: बारिश न होने के चलते लोगों को मिली थोड़ी राहत, सरकार ने किया मुआवजे का ऐलान-Kerala Floods LIVE Updates: Relief in Sight for Idukki Residents as Rain Relents, Waters Recede Slightly

केरल में इडुक्की डैम के आसपास एर्नाकुलम और त्रिशूर में रहने वाले हज़ारों लोगों को शनिवार के दिन बारिश रुकने से थोड़ी राहत मिलती दिखी. मौसम विभाग ने इन इलाकों में तेज़ बारिश की चेतावनी दी थी, जिसके बाद यहां हुई मूसलाधार बारिश के कारण आधे से ज्यादा हिस्से में भीषण बाढ़ की स्थिति है. राज्य के सभी बांध, जलाशय और नदियां लबालब भरी हैं. इस बारिश और बाढ़ के कारण करीब 54,000 लोग बेघर हो गए हैं और कम से कम 29 लोगों की मौत हुई है. हालांकि शनिवार को इडुक्की डैम के जलस्तर में थोड़ी कमी आई है.

मुख्यमंत्री पिनराई विजयन ने शनिवार सुबह वायनाड का हवाई दौरा कर बाढ़ का जायजा लिया. हालांकि खराब मौसम के चलते मुख्यमंत्री का हेलिकॉप्टर इडुक्की के कट्टापन्ना में लैंड नहीं कर सका. बाढ़ के खतरे को देखते हुए प्रदेश में युद्ध स्तर पर राहत और बचाव का काम चल रहा है. मुख्यमंत्री ने मृतकों के परिजनों को चार लाख रुपये और जिनके घर-बार बह गए हैं उन्हें 10 लाख रुपए मुआवजा देने का ऐलान किया है.

उधर राज्य के बिजली मंत्री एमएम मनी ने कहा, ” इन इलाकों में बारिश में थोड़ी कमी आई है. लिहाजा इडुक्की डैम में पानी का स्तर भी थोड़ा नीचे आ गया है. अब तक चीजें ठीक हैं.” बारिश में थोड़ी कमी आने से इडुक्की डैम में जलस्तर अब थोड़ा नीचे गिरकर 2,401 फीट पर पहुंच गया है. शुक्रवार को यहां पानी निकालने के लिए डैम के पांचों गेट खोल दिए गए थे. बीते 26 साल में पहली बार इस डैम के गेट खोलने पड़े थे.

इससे पहले अधिकारियों को शुक्रवार को लग रहा था कि सभी पांच फ्लड गेट खोलने से एर्नाकुलम और त्रिशूर जिलों के कुछ हिस्से डूब जाएंगे. हालांकि, ऐसा नहीं हुआ, क्योंकि बांध का पानी पेरियार नदी की सहायक नदियों में व्यवस्थित ढंग से चला गया.

राज्य की लगभग सभी 40 नदियां उफान पर हैं. आठ अगस्त से ही हो रही भारी मॉनसूनी बारिश के कारण उत्तरी और मध्य केरल सबसे ज्यादा प्रभावित है. बारिश के कारण कुल 29 लोगों की मौत हुई है जिनमें तीन की मौत शुक्रवार को हुई. इनमें से 25 की मौत लैंडस्लाइड में हुई और चार की मौत डूबने से हुई. केरल के अधिकारियों ने बताया कि राज्य के 439 राहत शिविरों में कुल 53,501 लोगों को रखा गया है.

ये भी पढ़े:

अप्वॉइंटमेंट के 7 साल बाद UP के 14 जजों को मिला कोर्ट रूम और काम

OPINION: राजस्थान में क्या राहुल बनाम वसुंधरा होगा इस बार का चुनाव?



Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *