हिंदी न्यूज़ – केंद्र के इशारे पर अंशु प्रकाश ने रचा केजरीवाल को झूठे मामले में फंसाने का षडयंत्र: AAP-Anshu Prakash conspired to implicate Kejriwal in false case at the behest of the Center

केंद्र के इशारे पर अंशु प्रकाश ने रचा केजरीवाल को झूठे मामले में फंसाने का षडयंत्र: AAP

केंद्र के इशारे पर अंशु प्रकाश ने रचा केजरीवाल को झूठे मामले में फंसाने का षडयंत्र: AAP

भाषा

Updated: August 13, 2018, 11:53 PM IST

आम आदमी पार्टी (आप) ने दिल्ली सरकार के मुख्य सचिव अंशु प्रकाश के साथ कथित अभद्रता के मामले में पार्टी प्रमुख और दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल, उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया और कुछ विधायकों के खिलाफ पुलिस द्वारा दायर आरोपपत्र को केन्द्र सरकार की साजिश का हिस्सा करार दिया है.

आम आदमी पार्टी के प्रवक्ता सौरभ भरद्वाज ने सोमवार को आरोप लगाया कि भाजपा नेताओं के करीबी रहे प्रकाश को दिल्ली सरकार को अस्थिर करने की योजना के साथ दिल्ली में तैनात किया गया था. उन्होंने कहा ‘‘प्रकाश ने इसके तहत ही गत 19 फरवरी को राजनिवास में उपराज्यपाल अनिल बैजल और वरिष्ठ पुलिस अफ़सर की मौजूदगी में प्रधानमंत्री कार्यालय के इशारे पर यह साजिश रची थी.’’

आप नेता ने कहा कि इससे पहले भी दिल्ली सरकार के मंत्रियों और विधायकों के खिलाफ लगाए गए मुकदमे अदालती जांच में गलत साबित हुए. भारद्वाज ने कहा कि इस मामले में भी तमाम ऐसे बिंदु हैं जिनसे यह साबित होता है कि प्रकाश ने राजनिति से प्रेरित होकर यह मामला दर्ज कराया है.

उन्होंने इसे शर्मनाक बताते हुये कहा ‘‘प्रकाश जनता के नहीं बल्कि केंद्र सरकार के एजेंट के रूप में काम कर रहे हैं. उनका मकसद घर पर राशन वितरण योजना और सीसीटीवी परियोजना सहित दिल्ली सरकार की हर प्रमुख योजना में बाधा उत्पन्न करना है.गौरतलब है कि दिल्ली पुलिस ने प्रकाश पर कथित हमले के मामले में केजरीवाल के खिलाफ स्थानीय अदालत में सोमवार को आरोपपत्र दायर किया है. बता दें कि इस मामले को लेकर आप की ओर से जारी बयान में बीजेपी पर जमकर निशाना साधा गया है.

ये भी पढ़ें: मुख्य सचिव से मारपीट मामले में चार्जशीट दाखिल, केजरीवाल-सिसोदिया बनाए गए आरोपी

आम आदमी पार्टी ने आरोप लगया है कि फरवरी, 2015 में अपने राजनीतिक जीवन में मिली सबसे करारी हार के लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और भाजपा अध्यक्ष अमित शाह ने दिल्ली सरकार को माफ नहीं किया है और बदला लेने के लिए उन्होंने सारी एजेंसियों को दिल्ली सरकार को तबाह करने के लिए छोड़ दिया है. बयान में आगे कहा गया है कि केंद्र सरकार, उसकी विभिन्न एजेंसियों, उप-राज्यपाल और कुछ नौकरशाहों की तरफ से तमाम अड़ंगों के बावजूद जनता के हित में काम कर रही दिल्ली सरकार को अपने अधिकारों का दुरुपयोग करके केंद्र की भाजपा सरकार डराने में कामयाब नहीं होगी.

और भी देखें

Updated: August 13, 2018 11:18 PM ISTभुवनेश्वर में छात्र कांग्रेस और पुलिस के बीच संघर्ष

Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *