हिंदी न्यूज़ – निमोनिया से पीड़ित थे वाजपेयी, कई अंगों के काम बंद करने से हुई मौत-Atal Bihari Vajpayee suffered pneumonia, multi-organ failure; was put on ECMO: Doctors

निमोनिया से पीड़ित थे वाजपेयी, कई अंगों के काम बंद करने से हुआ निधन

एक चिकित्सक ने नाम जाहिर नहीं करने की शर्त पर बताया, “वह निमोनिया से पीड़ित थे और गुर्दा सहित उनके कई प्रमुख अंगों ने काम करना बंद कर दिया था. उन्हें अंतिम दिन ईसीएमओ सपोर्ट पर रखा गया था.”

भाषा

Updated: August 16, 2018, 9:17 PM IST

एम्स के चिकित्सकों के मुताबिक पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी निमोनिया से पीड़ित थे और उनके कई प्रमुख अंगों ने काम करना बंद कर दिया था. उन्होंने कहा कि 93 वर्षीय वयोवृद्ध नेता को उनके जीवन के अंतिम दिन एक्स्ट्राकॉर्पोरियल मेम्ब्रेन ऑक्सीजिनेशन (ईसीएमओ) सपोर्ट पर रखा गया था.

अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान ने गुरुवार को वाजपेयी के निधन की घोषणा की. पूर्व प्रधानमंत्री को कई समस्याओं को लेकर 11 जून को अस्पताल में भर्ती कराया गया था. एक चिकित्सक ने नाम जाहिर नहीं करने की शर्त पर बताया, “वह निमोनिया से पीड़ित थे और गुर्दा सहित उनके कई प्रमुख अंगों ने काम करना बंद कर दिया था. उन्हें अंतिम दिन ईसीएमओ सपोर्ट पर रखा गया था.”

ये भी पढ़ें: अविवाहित क्यों रह गए अटल बिहारी वाजपेयी!

एसीएमओ के जरिए ऐसे मरीजों को दिल और श्वसन संबंधी सपोर्ट दिया जाता है, जिनके हृदय और फेफड़े सही तरीके से अपना काम नहीं कर पाते हैं. पूर्व प्रधानमंत्री को गुर्दे और मूत्र नली के संक्रमण, कम मूत्र होने और सीने में जकड़न की शिकायत के बाद अस्पताल में भर्ती कराया गया था.वाजपेयी मधुमेह से पीड़ित थे और उनका केवल एक गुर्दा ही काम कर रहा था. वर्ष 2009 में उन्हें आघात लगा था जिससे उनकी संज्ञानात्मक क्षमताएं कमजोर हो गयी थीं. और कुछ समय बाद उन्हें डिमेंशिया हो गया था. देश के सबसे करिश्माई नेताओं में से एक वाजपेयी का गुरुवार को एम्स में निधन हो गया. वह 93 साल के थे.

अटल बिहारी वाजपेयी के  निधन से जुड़े पल पल के अपडेट के लिए यहां क्‍लिक करें

और भी देखें

Updated: August 16, 2018 07:13 PM ISTपूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी के निधन से साधु संतों में शोक की लहर

Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *