हिंदी न्यूज़ – kerala Flood Claims 357 lives, loss of 19000 crores केरल में बाढ़ से मौतों का आंकड़ा बढ़कर 357 हुआ, कुल 19 हजार करोड़ का नुकसान

दक्षिण भारतीय राज्य केरल में 15 दिनों से अधिक वक्त से हो रही भारी बारिश के चलते बाढ़ और भूस्खलन की वजह से शनिवार को 33 लोगों की मौत हो गई. इस तरह प्रदेश में  मौतों का कुल आंकड़ा बढ़कर 357 हो गया है, वहीं करीब तीन लाख लोग बेघर हो गए हैं. केरल सरकार की रिपोर्ट के अनुसार बाढ़ और भूस्खलन के चलते प्रदेश का 19 हजार करोड़ का नुकसान हुआ है.

पढ़ेंः केरल में एनडीआरएफ का अब तक का सबसे बड़ा अभियान, जुटी 58 टीमें

मौसम विभाग ने केरल के 14 में से 11 जिलों में रविवार को भारी बारिश की आशंका व्यक्त की थी जिसके बाद 11 जिलों में रेड अलर्ट घोषित कर दिया गया था. हालांकि बाद में आठ जिलों से रेड अलर्ट हटा लिया गया है. मौसम विभाग ने 20 अगस्त तक केरल के विभिन्न स्थानों पर भारी वर्षा का पूर्वानुमान जताया है हालांकि विभाग के मुताबिक, 20 अगस्त के बाद तेज बारिश नहीं होगी. (केरल बाढ़ से जुड़ा अब तक का पूरा अपडेट पढ़ने के लिए क्लिक करें)

500 करोड़ की मदद का ऐलान, राहुल ने की राष्ट्रीय आपदा घोषित करने की मांगप्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने शनिवार को केरल के मुख्यमंत्री पी विजयन से मुलाकात की. इसके बाद उन्होंने बाढ़ के हालातों का हवाई सर्वे भी किया. बाढ़ से हुए 19 हजार करोड़ के नुकसान को देखते हुए पीएम ने केरल के लिए केंद्र की तरफ से 500 करोड़ की राशि देने का ऐलान किया है. इससे पहले गृहमंत्री राजनाथ सिंह ने 100 करोड़ की सहायता देने का ऐलान किया था. इस तरह केंद्र की तरफ से अब तक 600 करोड़ का ऐलान किया जा चुका है. कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने राशि बढ़ाने के फैसले का स्वागत किया, हालांकि ट्विटर पोस्ट के जरिए उन्होंने कहा कि 500 करोड़ की मदद काफी नहीं है. उन्होंने पीएम से केरल की त्रासदी को राष्ट्रीय आपदा  घोषित करने की मांग की.

उत्तराखंड आपदा से दोगुनी और 2017 गुजरात बाढ़ से तीन गुना बारिश का शिकार हुआ केरल

हजारों लोग फंसे
आधिकारिक सूत्रों ने बताया कि अलग-थलग इलाकों और घरों के बारे में जानकारी की कमी की वजह से माना जाता है कि बड़ी संख्या में लोग फंसे हुए हैं. बचावकर्मियों के लिए यह चिंता का विषय है. एर्नाकुलम जिले में मुख्य रूप से परावुर और अलुवा तालुक में 54,000 से अधिक लोगों को बचाया गया है. वहां पिछले दो दिनों में भारी बारिश और गंभीर जल जमाव देखा गया. उन्होंने बताया कि पिछले दो दिनों से कोच्चि के पास कलाडी में श्री शंकराचार्य विश्वविद्यालय के परिसर में एक इमारत में फंसे हुए 600 से ज्यादा छात्रों को शनिवार को बचाया गया. स्थानीय नेताओं ने कहा कि एर्नाकुलम जिले के परावुर क्षेत्र में हजारों लोग फंसे हुए हैं. अभी तक कई लोगों के फंसे होने के मद्देनजर अधिकारियों ने शनिवार को बचाव अभियान के लिए निजी नौकाओं और स्कूल बसों को देने के आदेश जारी किए.

मदद को सामने आए दूसरे राज्य
केरल में बाढ़ को देखते हुए देश के अन्य राज्यों के मुख्यमंत्रियों ने आर्थिक मदद का ऐलान किया है. तेलंगाना के मुख्यमंत्री के चंद्रशेखर राव ने 25 करोड़ की मदद, महाराष्ट्र सरकार ने 20 करोड़, बिहार, राजस्थान, मध्यप्रदेश, हरियाणा सरकार ने 10-10 करोड़, छत्तीसगढ़ सरकार ने 7.5 करो़ड़ के चावल और 3 करोड़ रुपये की आर्थिक मदद का ऐलान किया है. वहीं पड़ोसी तमिलनाडु सरकार ने आर्थिक मदद के साथ-साथ अन्न, दूध और दवाइयों की मदद का ऐलान किया है. इस बीच नेशनल कांफ्रेस के उपाध्यक्ष एवं विधायक उमर अब्दुल्ला ने कहा कि वह केरल के बाढ़ पीड़ितों के लिए अपने एक माह का वेतन दान करेंगे.

Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *