हिंदी न्यूज़ – पढ़ाई के लिए मछली बेचने पर ट्रोल हुई थी ये छात्रा, अब केरल बाढ़ के लिए डोनेट किए 1.5 लाख-Kerala Teen Trolled for Selling Fish Decides to Donate Rs 1.5 Lakh to Flood-hit State

केरल पिछले 100 सालों में रिकॉर्डतोड़ बारिश की मार झेल रहा है. देश के कई राज्यों समेत संयुक्त अरब अमीरात (UAE) और कतर जैसे देशों ने केरल की तरफ मदद का हाथ बढ़ाया है. कई नेताओं और जानी-मानी हस्तियों ने भी बाढ़ राहत कार्य के लिए डोनेशन दिया है. इन सबके बीच केरल के कोच्चि की रहने वाली 21 साल की छात्रा सोशल मीडिया पर छाई हुई है. अपनी पढ़ाई की जरूरतों को पूरा करने के लिए मछली बेचने के लिए सोशल मीडिया पर ट्रोल हुई छात्रा हनान हामिद ने बाढ़ प्रभावित केरल के मुख्यमंत्री आपदा राहत कोष में 1.5 लाख रुपये का योगदान किया है.

केरल में बाढ़ की विभीषिका के बीच लिया जिंदगी ने जन्‍म

डोनेशन के बारे में हनान कहती हैं, ‘मेरी पढ़ाई के लिए किए जा रहे संघर्ष के सोशल मीडिया पर शेयर किए जाने के बाद कुछ लोगों ने आर्थिक रूप से मेरी मदद की थी. कुल डेढ़ लाख रुपये इकट्ठा हुए थे.’ हनान ने कहा, ‘यह पैसा मुझे लोगों से मिला था. जरुरतमंदों की मदद के लिए इसे वापस देकर मैं बहुत खुश हूं और अच्छा महसूस कर रही हूं.’

केरल बाढ़: Paytm के मालिक ने दान दिए दस हज़ार रुपये, सोशल मीडिया पर किरकिरी

फोटो क्रेडिट-फेसबुक

दरअसल, बीते जुलाई को हनान हामिद की कुछ तस्वीरें सोशल मीडिया पर वायरल हो गई थीं. इन तस्वीरों में हनान स्कूल यूनिफॉर्म में मछली बेचती नज़र आ रही थीं. इडुक्की जिले के थोडुपुझा में एक निजी कॉलेज में बीएससी की छात्रा हनान के संघर्ष की ये कहानी मलयालम अखबार में प्रमुखता से प्रकाशित हुई थी.

दिल्‍ली सरकार ने केरल की मदद के लिए 10 करोड़ की सहायता राशि दी

इसके बाद बाकी मीडिया ने भी इसे अपने अखबारों और वेबसाइट में जगह दी थी. हालांकि, सोशल मीडिया में कुछ यूजर्स ने हनान की कहानी पर शक जाहिर किया था और उसे फर्जी करार दिया था. यूजर्स ने हनान के जमकर ट्रोल भी किया था.

केरल में 96 साल बाद बाढ़ का कहर, जानिए क्यों हुई ऐसी तबाही

अब केरल में बाढ़ राहत के लिए डोनेशन देकर हनान की सोशल मीडिया पर तारीफें हो रही हैं. अपनी जरूरतों को पूरा करने के लिए विभिन्न कार्यक्रमों में एंकर की भूमिका निभाने वाली हनान ने लोगों से राहत कार्य के लिए ज्यादा से ज्यादा दान करने की गुजारिश की है.

Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *