हिंदी न्यूज़ – केरल में बाढ़ राहत के लिए विदेशी चंदा स्वीकार नहीं करेगा भारत-Centre Says Thanks But No Thanks to Foreign Aid for Flood-Hit Kerala, Will Provide Relief on Its Own

आधिकारिक सूत्रों ने बुधवार को कहा कि केंद्र सरकार बाढ़ से पीड़ित केरल को वित्तीय सहायता देने के लिए विदेशी सरकारों को संदेश दे रही है लेकिन सरकार मदद स्वीकार नहीं करेगी.

विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता रवीश कुमार ने कहा कि केरल में राहत और बचाव अभियान की जरूरतों को पूरा करने के लिए सरकार प्रतिबद्ध है और वह घरेलू स्तर पर ही इसका समाधान करेगी.

संयुक्त अरब अमीरात (यूएई), कतर और मालदीव समेत कई देशों ने केरल में बाढ़ राहत के लिए सहायता पैकेज देने की घोषणा की है.

सूत्रों ने कहा कि सहायता लेने से इनकार के दौरान भारत ने केरल में बाढ़ प्रभावित लोगों की सहायता का प्रस्ताव देने के लिए विदेशी देशों की सराहना की.बता दें कि बाढ़ प्रभावित केरल की सहायता के लिए संयुक्त राज्य अमीरात ने 700 करोड़, कतर ने 35 करोड़ और मालदीव ने 35 लाख रुपये दाने देने की घोषणा की है. वहीं केरल सरकार ने राज्य में बाढ़ राहत कार्यों के लिए विदेशी सरकारों से दान स्वीकार न करने के केंद्र के फैसले पर अपनी नाखुशी जाहिर की है.

ये भी पढ़ें: बाढ़ पीड़ितों की मदद के लिए यह एयरलाइंस दे रही है मुफ्त टिकट

मुख्यमंत्री पिनारायी विजयन ने कहा कि राज्य सरकार संयुक्त अरब अमीरात द्वारा घोषित राहत पैकेज को प्राप्त करने में आ रही बाधा को दूर करने के लिए प्रधानमंत्री मोदी से संपर्क करेगी. भारत में थाईलेंड के राजदूत चुटिंटर्न सैम गोंगस्कादी ने एक ट्वीट के जरिए सूचित किया है कि भारत सरकार केरल में बाढ़ राहत कार्यों के लिए विदेशी दान को स्वीकार नहीं करेगी.

आधिकारिक सूत्रों ने कहा कि नई दिल्ली विदेशी सरकारों को संदेश दे रही है कि वह केरल में बाढ़ के कारण होने वाले नुकसान का व्यापक मूल्यांकन कर रहा है और राज्य की आवश्यकताओं को पूरा करने में सक्षम है. सूत्रों ने बताया कि प्रवासी भारतीयों से तथा निजी चंदा स्वीकार करने में कोई पाबंदी नहीं है.

ये भी पढ़ें: केरल में बचाव अभियान खत्म होने से पहले ही छिड़ गया है राजनीतिक युद्ध

यूएई ने केरल से अपने संबंधों को लेकर 700 करोड़ रुपये की मदद की पेशकश की है. आधिकारिक आंकड़ों के मुताबिक करीब 30 लाख भारतीय यूएई में रहते हैं और वहां काम करते हैं जिनमें से 80 फीसदी केरल से हैं.

केरल में आई बाढ़ में 231 लोगों की जानें गई हैं और 14 लाख से अधिक लोग बेघर हुए हैं.

(भाषा इनपुट के साथ)

Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *