हिंदी न्यूज़ – Tamil nadu cm EPS Says AIADMK Doesn’t ‘Nod’ to Every Decision by Modi Govt-तमिलनाडु के सीएम पलानीसामी ने कहा- बीजेपी के हर फैसले को नहीं देते ‘अनुमति’

तमिलनाडु में पक्ष और विपक्ष में आरोप प्रत्यारोप का दौर जारी है. द्रविड़ मुनेत्र कड़गम (DMK) की ओर से लगातार किए जा रहे हमलों के बाद AIADMK के नेता और मुख्यमंत्री ईके पलानीसामी ने कहा है कि उनकी सरकार ‘हर चीज की अनुमति नहीं देती जो बीजेपी कहती है.’

ईपीएस की ओर से ये बयान उस समय आया है जब DMK प्रमुख एमके स्टालिन ने AIADMK पर आरोप लगाया है कि वो तमिलनाडु के हित का ख्याल न रखते हुए केंद्र सरकार से मजबूत रिश्ते बना रही है.

स्टालिन के आरोप पर पलानीसामी ने कहा, ‘ हम उस रास्ते का अनुसरण कर रहे हैं जिस पर अम्मा (जयललिता) चलीं. जब जरूरी होता है तो हम विरोध करते हैं. हम बीजेपी के हर फैसले को अनुमित नहीं देते. विपक्ष हम पर हमेशा हमलावर रहता है.आप क्या सोचते हैं कि विपक्ष कभी हमारी प्रशंसा करेगा.’

यह भी पढ़ें: डीएमके अध्यक्ष के तौर पर स्टालिन के हमलावर रुख के मायने!

पार्टी का अध्यक्ष पद संभालने के बाद अपने पहले भाषण में स्टालिन ने कहा कि ईपीएस सरकार, राज्य के हितों की कीमत पर ‘अपना स्वाभिमान’ खो रही है.

एआईएडीएमके ने  संसद के मानसून सत्र में विश्वास मत के दौरान मोदी सरकार का समर्थन किया और राज्यसभा के उप-सभापति के चुनाव में एनडीए उम्मीदवार के लिए भी मतदान किया. जबकि द्रमुक ने विभिन्न जगहों पर बीजेपी पर हमला किया है. एआईएडीएमके अब भी लोगों को एक मजबूत संदेश भेजने की कोशिश कर रहा है कि वह बीजेपी के हाथों की ‘कठपुतली’ नहीं है.

हालांकि यह कहना बहुत जल्दी है कि क्या एआईएडीएमके साल 2019 के चुनावों के लिए बीजेपी से खुद को दूर करने की योजना बना रहा है या क्या यह सिर्फ राजनीतिक मुद्रा है? बीजेपी और कांग्रेस दोनों के पास तमिलनाडु में सीमित राजनीतिक क्षेत्र है, जहां से लोकसभा में 39 सदस्य जाते हैं. साल 2019 के आम चुनावों के लिए दोनों यूपीए और एनडीएन गठबंधन चाहते हैं.

यह भी पढ़ें: DMK ने तमिलनाडु के मुख्यमंत्री पलानीस्वामी पर लगाया भाई-भतीजावाद का आरोप

Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *