हिंदी न्यूज़ – IRCTC घोटाला : पटियाला हाउस कोर्ट में राबड़ी देवी और तेजस्‍वी यादव की पेशी आज – IRCTC scandal: Rabri Devi and Tejashwi Yadav’s Hearing today at Patiala House Court

IRCTC घोटाला : राबड़ी देवी और तेजस्‍वी यादव पर अाज आ सकता है फैसला

पटियाला हाउस कोर्ट में राबड़ी देवी और तेजस्‍वी यादव की पेशी आज

News18Hindi

Updated: August 31, 2018, 9:26 AM IST

दिल्‍ली की पटियाला हाउस कोर्ट में आज आईआरसीटीसी घोटाले मामले की सुनवाई होनी है. इस मामले में पिछली सुनवाई के दौरान बिहार की पूर्व मुख्‍यमंत्री राबड़ी देवी और नेता प्रतिपक्ष तेजस्‍वी यादव को समन जारी किया गया था. इससे पहले चारा घोटाले में बीमारी के कारण जमानत पर चल रहे जेडीयू अध्‍यक्ष और बिहार के पूर्व मुख्‍यमंत्री लालू प्रसाद यादव को रांची की सीबीआई अदालत ने पहले ही जेल भेज दिया है.

सीबीआई ने आईआरसीटीसी घोटाला मामले में 14 लोगों के खिलाफ चार्जशीट फाइल की है. इस मामले में पहले से ही आठ लोगों के नाम दर्ज थे, जिसमें 6 अन्य नाम भी जोड़े गए हैं. आईआरसीटीसी घोटाले मामले में बिहार के पूर्व मुख्यमंत्री लालू प्रसाद यादव, राबड़ी देवी और तेजस्वी यादव का नाम भी शामिल है. तेजस्वी यादव के खिलाफ पहली बार चार्जशीट फाइल की गई है. इस केस में सरला गुप्ता पत्नी प्रेम गुप्ता, विजय और विनय कोचर (होटल चाणक्य के मालिक) और आईआरसीटीसी के मैनेजिंग डायरेक्टर पी के गोयल का नाम भी दर्ज है. आईआरसीटीसी के डायरेक्टर राकेश सक्सेना, जनरल मैनेजर बी के अग्रवाल और लालू के करीबी रहे प्रेम गुप्ता का नाम भी चार्जशीट में शामिल है.

क्या है पूरा मामला?

लालू यादव 2004 से 2009 के बीच रेलमंत्री थे, तब रेलवे के पुरी और रांची स्थित बीएनआर होटल को रख-रखाव और इम्प्रूवमेंट के लिए आईआरसीटीसी को ट्रांसफर किया था. इसके लिए टेंडर विनय कोचर की कंपनी मेसर्स सुजाता होटल्स को दिए गए. टेंडर प्रॉसेस में नियम-कानून को बड़े स्तर पर ताक पर रखा गया था.आरोप है कि इसके एवज़ में 25 फरवरी 2005 को कोचर ने पटना की बेली रोड स्थित 3 एकड़ जमीन सरला गुप्ता की कंपनी मेसर्स डिलाइट मार्केटिंग कंपनी लिमिटेड (डीएमसीएल) को 1.47 करोड़ रुपए में बेच दी, जबकि बाजार में उसकी कीमत 1.93 करोड़ रुपए थी. इसे कृषि भूमि बताकर सर्कल रेट से काफी कम पर बेचा गया, स्टाम्प ड्यूटी में गड़बड़ी की गई.

बाद में 2010 से 2014 के बीच यह बेनामी प्रॉपर्टी लालू की फैमिली की कंपनी लारा प्रोजेक्ट को सिर्फ 65 लाख रुपये में ट्रांसफर कर दी गई, जबकि सर्कल रेट के तहत इसकी कीमत करीब 32 करोड़ थी और मार्केट रेट 94 करोड़ रुपए था. एफआईआर में कहा गया है कि कोचर ने जिस दिन ज़मीन डीएमसीएल को बेची गई उसी दिन रेलवे बोर्ड ने आईआरसीटीसी को उसे बीएनआर होटल्स सौंपे जाने के अपने फैसले के बारे में बताया.

बेनामी प्रॉपर्टी 1000 करोड़ की हो सकती है
डिपार्टमेंट को शक है कि बेनामी प्रॉपर्टी 1000 करोड़ की हो सकती है. बीजेपी नेता सुशील मोदी ने कहा है कि रेलवे के होटल को लीज़ पर देने के लिए जो ज़मीन लालू को दी गई उसकी कीमत करीब 200 करोड़ रुपये है. उन्होंने ये भी आरोप लगाया कि इस ज़मीन पर पटना का सबसे बड़ा शॉपिंग मॉल बनाया जा रहा है.

और भी देखें

Updated: August 30, 2018 09:09 PM ISTकभी हुनर के लिए जीता था नेशनल अवार्ड, आज ऑटो चलाने को है मजबूर

Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *