हिंदी न्यूज़ – पंजाब के मंत्रियों ने फुलका की धमकी को न्याय बाधित करने का प्रयास बताया-Phoolka threatens to quit post 5 senior Punjab ministers term it as attempt to obstruct justice Phoolka threat after no FIR registered against Badal and Saini

विधायक पद छोड़ने की आम आदमी पार्टी के नेता एच एस फुलका की धमकी को पंजाब सरकार के पांच वरिष्ठ मंत्रियों ने रविवार को न्याय प्रक्रिया को बाधित करने का प्रयास करार दिया. कोटकपुरा और बेहबल कलां में पुलिस फायरिंग की घटनाओं के लिए पूर्व मुख्यमंत्री प्रकाश सिंह बादल और सेवानिवृत्त डीजीपी एसएस सैनी के खिलाफ एफआईआर दर्ज़ करने में कांग्रेस सरकार के विफल रहने पर फुलका ने ये धमकी दी थी.

फुलका ने शनिवार को कैबिनेट मंत्री सुखजिंदर रंधावा, नवजोत सिंह सिद्धु, चरनजीत सिंह चन्न, मनप्रीत सिंह बादल और तृप्त राजिंदर सिंह बाजवा को 15 दिन की चेतावनी देते हुए कहा था कि वो बादल और सैनी के खिलाफ हत्या का मामला दर्ज़ कराएं.

उन्होंने कहा, ‘विधायक पद छोड़ने की उनकी धमकी न्याय की प्रक्रिया को बाधित करने का प्रयास है.’ उन्होंने कहा कि लोकतांत्रिक राजनीति में इस तरह का कृत्य किसी वरिष्ठ नेता को शोभा नहीं देता.

मंत्रियों ने यहां एक संयुक्त बयान में कहा कि सरकार बेअदबी मामले में कानूनी प्रक्रिया के तहत न्यायमूर्ति (सेवानिवृत्त) रंजीत सिंह आयोग की ओर से त्वरित और व्यापक जांच के बाद दोषी ठहराए गए लोगों के खिलाफ मामला दर्ज़ कर उन्हें दंड दिलवाने के लिए प्रतिबद्ध है.इस बीच शिरोमणी अकाली दल ने फुलका की चेतावनी को सियासी फायदा लेने के लिए की गई राजनीतिक नौटंकी करार दिया.

Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *