काका के ठीहाः साड़ी आ बाड़ी के झगड़ा बड़ा जबर होला

गांव में मेहरारू लोग के लड़ाई-झगड़ा तऽ रोज के बात हऽ. बाकिर अगर धेयान से देखल जाव तऽ साड़ी आ बाड़ी (घर) के झगड़ा बड़ा जबर होला.

Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *