हिंदी न्यूज़ – Message of ‘Unity’ to delegates of World Hindu Congress-विश्व हिन्दू सम्मेलन में हिस्सा लेने वालों को मिले दो लड्डू, एक नरम दूसरा सख्त, ऐसा क्योंं?

विश्व हिन्दू सम्मेलन में हिस्सा लेने वालों को मिले दो लड्डू, एक नरम दूसरा सख्त, ऐसा क्योंं?

फाइल फोटो PTI

News18Hindi

Updated: September 9, 2018, 2:41 PM IST

शिकागो में हो रहे विश्व हिंदू सम्मेलन में भाग लेने वाले प्रतिनिधियों को उनके स्वागत के तौर पर दो लड्डू के पैकेट दिए गए हैं जिनमें एक लड्डू सख्त और एक लड्डू नरम है. कार्यक्रम के आयोजकों ने बताया कि मिठाई के ये पैकेट आम धारणा का यह संदेश देने के लिए वितरित किए गए हैं कि हिंदू समाज एकजुट नहीं है.

कलेक्टिव एफर्ट्स फॉर हिंदू एमरजेंस पर चर्चा में शनिवार को डब्ल्यूएचसी के हिंदू संगठनात्मक सम्मेलन के समन्वयक गुना मगेसन ने कहा, ‘नरम लड्डू आज हिंदुओं की स्थिति को दिखाता है कि उन्हें आसानी से बांटा और निगला जा सकता है जबकि हिंदू समाज के लिए भविष्य का दृष्टिकोंण एक सख्त लड्डू की तरह होना चाहिए जो मजबूती से बंधा हो.’

भारत सेवा आश्रम के स्वामी पूर्णात्मानंदा ने कहा कि पुनरुत्थान के लिए सभी हिंदुओं को एकजुट होना चाहिए. उन्होंने कहा कि हिंदू धार्मिक शिक्षाएं मानवता के लिए है. उन्होंने कहा कि भारत में हिंदू शिक्षा देने के लिए स्कूल और कॉलेज खुलने चाहिए.

यह भी पढ़ें: मोहन भागवत के ‘कुत्ते-शेर’ वाले बयान पर विपक्षी दलों का हमला, कहा- RSS हिन्दू विरोधीहिंदुत्व के पुनरुत्थान पर चिन्मय मिशन के आध्यात्मिक प्रमुख ने कहा, ‘हर चीज घर से शुरू होती है. जब परिवार टूटता है तो संस्कृति टूटती है और आसामंजस्यता का जीवन शुरू होता है. हमें हिंदुओं को हिंदुत्व में बदलना होगा.’ हिंदू धर्म आचार्य सभा के महासचिव स्वामी परमात्मानंदा ने कहा कि हिंदुओं को ना केवल अपने बल्कि पूरी दुनिया के पुनरुत्थान के लिए सामूहिक रूप से सोचना होगा.

नामधारी पंथ के सद्गुरू दलीप सिंह ने हिंदुओं से अंग्रेजी में इंडिया के बारे में बताने के बजाय इसे ‘भारत’ बुलाने का अनुरोध किया. जो हिंदु हिंदी जानते हैं उन्हें हमेशा हिंदी ही बोलनी चाहिए.

यह भी पढ़ें:  भागवत की अपील- एक हों हिंदू, जंगली कुत्ते अकेले शेर का शिकार कर सकते हैं

और भी देखें

Updated: September 05, 2018 04:17 PM ISTसुपौल में अवैध हुंडी कारोबार का भंडाफोड़, लगभग 55 लाख बरामद

Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *