हिंदी न्यूज़ – सुप्रीम कोर्ट के फैसले को AAP ने बताया ‘जनता की जीत’, एक्शन में आए केजरीवाल

दिल्ली सरकार बनाम उपराज्यपाल के बीच अधिकारों की लड़ाई में सुप्रीम कोर्ट के फैसले को आम आदमी पार्टी ने दिल्ली के लोगों और लोकतंत्र की जीत बताया है. सुप्रीम कोर्ट ने साफ किया कि उपराज्यपाल अनिल बैजल को स्वतंत्र फैसला लेने का अधिकार नहीं है और उन्हें मंत्रिपरिषद की मदद और सलाह पर काम करना होगा. कोर्ट के फ़ैसले को आम आदमी पार्टी ने जनता की अपेक्षाओं की जीत बताते हुए फ़ैसले का स्वागत किया है.

सुप्रीम कोर्ट के इस फैसले से गदगद मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ऐक्शन में आते दिखें और शाम चार बजे अपने आवास पर कैबिनेट की बैठक बुलाई है. केजरीवाल ने सुप्रीम कोर्ट के इस फैसले के तुरंत बाद ट्वीट कर लोगों को बधाई दी. उन्होंने कहा, ‘दिल्ली के लोगों की एक बड़ी जीत… लोकतंत्र की बड़ी जीत.’

इस फैसले के बाद अरविंद केजरीवाल ने बुधवार शाम चार बजे कैबिनेट की मीटिंग बुलाई है, केजरीवाल ने अपने ट्वीट में बताया कि मुख्यमंत्री आवास पर होने वाली इस मीटिंग में अब तक अटके पड़े मामलों पर चर्चा होगी.

बता दें कि सर्वोच्च अदालत ने अपने फ़ैसले में मौजूदा संवैधानिक प्रावधानों के हवाले से कहा कि दिल्ली में उपराज्यपाल मंत्रिपरिषद की सलाह पर काम करने को बाध्य है. सिर्फ़ भूमि, क़ानून व्यवस्था और वित्त मामलों में दिल्ली सरकार के बजाय केंद्र सरकार के पास प्रभावी अधिकार है.

इस फैसले के बाद दिल्ली के उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया ने पत्रकारों से बातचीत में कहा, ‘दिल्ली के लोगों की तरफ से मैं सुप्रीम कोर्ट और सभी जजों का इस ऐतिहासिक फैसले के धन्यवाद देता हूं. उन्होंने बताया कि दिल्ली के लोग ही सर्वोपरि हैं.’

उधर आप के राज्यसभा सदस्य और पार्टी प्रवक्ता संजय सिंह ने कहा, ‘जनता उसके हित के लिए काम करने की उम्मीद से सरकार चुनती है, लेकिन दिल्ली में चुनी हुई सरकार को काम नहीं करने दिए जाने से जनता निराश थी, सर्वोच्च अदालत का फ़ैसला दिल्ली की जनता की जीत है.’

अदालत के फ़ैसले पर प्रतिक्रिया व्यक्त करते हुए पार्टी नेता राघव चड्ढा ने कहा, ‘फ़ैसले से साफ़ है कि ज़मीन, पुलिस और क़ानून व्यवस्था दिल्ली सरकार के अधीन नहीं है. इन तीन विषयों को छोड़ कर, चाहे वह बाबुओं के तबादला का मसला हो या अन्य मामले हों, वे सब अब दिल्ली सरकार के अधीन आ जाएंगे.’

वहीं आप नेता दिलीप पांडे ने ट्वीट कर कहा, ‘बधाई हो, दिल्ली! आप की जीत हुई, दिल्ली की जीत हुई, सुप्रीम कोर्ट ने जनतंत्र को सर्वोच्च रखा. जनता के अधिकारों के सम्मान का दिन है.’ पांडे ने इसे अहंकार की हार बताते हुए कहा, ‘अब फाइलें एलजी दफ्तर के बेवजह चक्कर लगाकर दम नहीं तोड़ेंगी. सेवा सम्बंधी मामले में भी एलजी का हस्तक्षेप ख़त्म.’ उन्होंने कहा कि अब जनता का शासन होगा, घर घर राशन होगा, सीसीटीवी कैमरा भी होगा, मोहल्ला क्लिनिक इत्यादि भी समय से बन सकेंगे. (भाषा इनपुट के साथ)



Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *