हिंदी न्यूज़ – दुश्मनों से निपटने के लिए वायुसेना की क्षमता बढ़ाने की जरुरत: बीएस धनोआ-need to increase the capacity of the indian air force: bs dhanoa

दुश्मनों से निपटने के लिए वायुसेना की क्षमता बढ़ाने की जरुरत: बीएस धनोआ

Birender Singh Dhanoa

भाषा

Updated: September 12, 2018, 11:58 PM IST

वायुसेना प्रमुख एयर चीफ मार्शल बीएस धनोआ ने बुधवार को कहा कि चीन तिब्बत में लड़ाकू विमान तैनात करने के साथ ही अपनी हवाई शक्ति में वृद्धि कर रहा है. भारत को भी अपने प्रतिद्वंद्वियों की क्षमताओं को ध्यान में रखते हुए अपनी वायुसेना का आधुनिकीकरण करना चाहिए. उन्होंने कहा कि दो पड़ोसी देश चीन और पाकिस्तान के पास परमाणु हथियार होने से भारत एक अलग तरह की स्थिति का सामना कर रहा है और दुश्मनों के इरादे रातोंरात बदल सकते हैं.

राफेल डील पर एयरफोर्स चीफ ने किया सरकार का समर्थन, कहा- भारत के सामने है गंभीर खतरा

धनोआ ने भारतीय वायुसेना के बल की पुन: संरचना पर आयोजित एक संगोष्ठी को संबोधित करते हुए कहा कि देश के सामने सुरक्षा संबंधी जो चुनौतियां हैं, उसे देखते हुए वायु सेना की क्षमताओं को बढ़ाने की जरूरत है. चीन के पास करीब 1,700 लड़ाकू विमान हैं जिनमें से 800 चौथी पीढ़ी के विमान हैं और युद्ध की स्थिति में यह तिब्बत स्वायत्त क्षेत्र में हमारे खिलाफ लाए जाने की आशंका है.

एयर फोर्स ने बीच आसमान तेजस में भरा ईंधन, देखें VIDEOवायुसेना प्रमुख ने कहा कि भारत गंभीर सुरक्षा चुनौतियों का सामना कर रहा है. वायुसेना के पास लड़ाकू विमानों के मंजूर किए गए 42 बेड़ों के मुकाबले 31 बेड़े हैं. जो गंभीर चिंता का विषय है. लड़ाकू विमानों के एक बेड़े में 16 से 18 विमान होते हैं. दुनिया का कोई भी देश भारत जैसे गंभीर खतरे का सामना नहीं कर रहा है. भारत के पड़ोसी निष्क्रिय नहीं बैठे हैं और चीन जैसे देश अपनी वायु सेना का आधुनिकीकरण कर रहे हैं. वायुसेना प्रमुख ने कहा कि चीन और पाकिस्तान दोनों ही देश दूसरी और तीसरी पीढ़ी के लड़ाकू विमानों को चौथी पीढ़ी के विमानों से बदल रहे हैं. भारत को अपने लड़ाकू विमानों के बेड़े को तत्काल उन्नत करने की जरूरत है ताकि किसी भी चुनौती से निपटा जा सके.

और भी देखें

Updated: September 12, 2018 08:29 PM ISTविजय माल्या के लिए बदल दी गई मुंबई के इस जेल की सूरत, देखें VIDEO

Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *