हिंदी न्यूज़ – Rahul gandhi asked pm narendra modi to order probe and arun jaitley resignation over vijay mallya claim -राहुल गांधी बोले- माल्या के दावे की स्वतंत्र जांच कराएं PM मोदी, जेटली से लें इस्तीफा

देश से फरार शराब कारोबारी विजय माल्या के वित्त मंत्री अरुण जेटली को लेकर दिए गए एक बयान को लेकर सियासी बवाल मचा है. विजय माल्या ने लंदन कोर्ट में सुनवाई के बाद दावा किया कि देश छोड़ने से पहले उन्होंने ‘सेटलमेंट’ को लेकर वित्त मंत्री अरुण जेटली से मुलाकात की थी. माल्या के इस बयान के बाद कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने पूरे मामले की स्वतंत्र जांच की मांग की है.

राहुल गांधी ने ट्वीट किया, ‘विजय माल्या द्वारा लगाए गए आरोप बेहद गंभीर हैं. प्रधानमंत्री को इस मामले में तुरंत एक स्वतंत्र जांच करानी चाहिए. जब तक जांच पूरी हो, तब तक अरुण जेटली को वित्त मंत्री के पद पर नहीं रहना चाहिए.’

लंदन की कोर्ट ने विजय माल्या को दी बेल, भारत सरकार से कहा- जेल का वीडियो दिखाएं

वहीं, सीनियर एडवोकेट और कांग्रेस नेता अभिषेक मनु सिंघवी ने कहा, ‘कांग्रेस लंबे समय से यह कह रही है कि सिर्फ विजय माल्या ही नहीं, बल्कि नीरव मोदी और मेहुल चौकसी और कई अन्य को बिना कार्रवाई जाने दिया गया.’ कांग्रेस प्रवक्ता रणदीप सुरजेवाला ने ट्वीट कर कहा, ‘विजय माल्या, तो श्री अरुण जेटली से मिल, विदाई लेकर, देश का पैसा लेकर भाग गया है? चौकीदार नहीं, भागीदार है

जेटली ने ब्लॉग लिखकर दिया जवाब
माल्या के भारत छोड़ने से पहले वित्त मंत्री से मुलाकात की खबरों को अरुण जेटली ने ब्लॉग लिखकर खारिज किया है. जेटली ने लिखा, ‘विजय माल्या ने कहा कि वह भारत छोड़ने से पहले सेटलमेंट ऑफर को लेकर मुझसे मिले थे. तथ्यात्मक रूप से यह बयान पूरी तरह झूठ है. 2014 से अब तक मैंने माल्या को मुलाकात के लिए कोई अपॉइंटमेंट नहीं दिया है, ऐसे में मुझसे मिलने का सवाल ही नहीं उठता.’

अपने ब्लॉग में जेटली ने लिखा, ‘हालांकि वह (माल्या) राज्यसभा सदस्य थे और कभी-कभी सदन में आते थे. सदन की कार्रवाई के बाद एक बार मैं अपने कमरे की तरफ जा रह था. वह दौड़ते हुए मेरी तरफ आए थे. इस दौरान उन्होंने कहा था, ‘मैं सेटलमेंट के लिए एक ऑफर तैयार कर रहा हूं.’



Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *