हिंदी न्यूज़ – मोबाइल फोन के खतरों को लेकर दाखिल की PIL, जज ने कहा- पहले अपना फोन जमा करो-filed pil in madhya pradesh high court judge says first you quit using mobile phone

News18.com
Updated: September 13, 2018, 9:52 AM IST
मोबाइल फोन के खतरों पर दाखिल किया PIL, जज ने कहा-पहले अपना फोन जमा करो

कोर्ट ने कहा कि क्या ऐसे व्यक्ति द्वारा दाखिल किए गए पीआईएल पर विचार किया जा सकता है जो कि खुद ही मोबाइल फोन का प्रयोग करता हो.

News18.com

Updated: September 13, 2018, 9:52 AM IST

मध्य प्रदेश हाईकोर्ट में एक व्‍यक्ति ने मोबाइल फोन द्वारा स्वास्थ्य को होने वाले नुकसान को देखते हुए एक पीआईएल दाखिल किया तो हाईकोर्ट ने याचिकाकर्ता को फोन जमा करने का आदेश दे दिया. राजेंद्र दीवान नाम के इस आदमी ने मध्य प्रदेश हाईकोर्ट में पीआईएल दाखिल करके कोर्ट द्वारा निर्देश दिए जाने की मांग की ताकि लोगों को मोबाइल फोन से होने वाले खतरों से के प्रति जागरूक किया जा सके.

ये भी पढ़ेंः जस्टिस के एम जोसेफ की SC में तत्काल नियुक्ति के लिए पूर्व जज ने डाला PIL

याचिका में कहा गया है कि कोर्ट मध्य प्रदेश सरकार को निर्देश दे, ताकि मोबाइल फोन का प्रयोग करने से बच्चों, गर्भवती महिलाओं व दूसरों लोगों को होने वाले नुकसानदायक प्रभाव के बारे में जागरूकता फैलाई जा सके.

लेकिन जब मामला हाईकोर्ट के मुख्य न्यायाधीश हेमंत गुप्ता के सामने सुनवाई के लिए आया तो उन्होंने एक विशेष शर्त रख दी. उन्होंने राजेंद्र दीवान के वकील से कहा कि क्या वह खुद फोन का प्रयोग करना छोड़ देंगे? कोर्ट ने कहा कि क्या ऐसे व्यक्ति द्वारा दाखिल किए गए पीआईएल पर विचार किया जा सकता है जो कि खुद ही मोबाइल फोन का प्रयोग करता हो.ये भी पढ़ेंः महात्मा गांधी की हत्या की दोबारा नहीं होगी जांच, सुप्रीम कोर्ट ने खारिज की PIL

कोर्ट ने दीवान के वकील को आदेश दिया कि वह कुछ समय में कोर्ट को बताएं कि क्या याचिकाकर्ता खुद मोबाइल फोन का प्रयोग करना छोड़ेगे.


दीवान को इसके लिए दो हफ्ते का समय दिया गया है लेकिन साथ में कोर्ट ने ये भी कहा कि यह काफी कुछ इस बात पर निर्भर करता है कि क्या याचिकाकर्ता खुद दूसरों के लिए उदाहरण पेश करेगा.

और भी देखें

Updated: September 11, 2018 08:33 PM ISTइसलिए नहीं मिल पाते हैं चोरी हुए आपके मोबाइल फोन

Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *