हिंदी न्यूज़ – DUSU चुनाव नतीजों पर हाईकोर्ट में अगली सुनवाई 29 अक्टूबर को Next hearing on DUSU elections on October 29 in the High Court

दिल्ली विश्वविद्यालय छात्र संघ (डूसू) चुनाव को चुनौती देने वाली याचिका पर सुनवाई करते हुए दिल्ली हाईकोर्ट ने चुनाव आयोग, दिल्ली विश्वविद्यालय, केंद्र सरकार, चीफ इलेक्टोरल ऑफीसर समेत सभी पक्षों की बातें सुनने के बाद सभी ईवीएम को और अधिक सुरक्षित करने का आदेश दिया है.

याचिका में चुनावों के दौरान प्राइवेट ईवीएम के इस्तेमाल को लेकर सवाल उठाया गया है. इस याचिका में ईवीएम मशीन की वैधता पर सवाल उठाया गया है और कहा गया है कि दोबारा चुनाव कराए जाएं. इस मामले में 29 अक्टूबर को अगली सुनावई होनी तय हुई है.

दिल्ली विश्वविद्यालय छात्र संघ (डूसू) चुनाव परिणाम को दिल्ली हाई कोर्ट में चुनौती दी गई है. इस संबंध में सोमवार को हाई कोर्ट में एक याचिका दायर की गई.
यह भी पढ़ें – DUSU चुनाव में अध्यक्ष समेत 3 पदों पर ABVP का कब्जा, सिर्फ सचिव का पद बचा पाई NSUI

तीन उम्मीदवारों ने यह याचिका दायर कर ईवीएम से छेड़छाड़ का आरोप लगाया गया है. साथ ही, उन्होंने सवाल किया है कि निजी तौर पर खरीदी गई ईवीएम का इस्तेमाल 12 सितंबर को हुए डूसू चुनावों में कैसे किया जा सकता है.

अपनी याचिका में उम्मीदवारों ने डूसू चुनाव में इस्तेमाल में लाई गई ईवीएम सुरक्षित रखने का भी अनुरोध किया है.

यह भी पढ़ें – सुप्रीम कोर्ट ने केजरीवाल को दिया झटका, दिल्ली के लिए इसलिए जरूरी है ये फैसला

गौरतलब है कि दिल्ली के मुख्य निर्वाचन अधिकारी के कार्यालय ने पिछले गुरुवार को कहा था कि डूसू चुनाव में इस्तेमाल में लाई गई ईवीएम चुनाव आयोग ने नहीं दिए थे. संभवत: वे निजी तौर पर खरीदी गई थीं.

दिल्ली विश्वविद्यालय छात्र संघ चुनाव के 13 सितंबर को घोषित परिणाम में राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ से जुड़े छात्र संगठन अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद (एबीवीपी) को अध्यक्ष सहित चार में से कुल तीन सीटें हासिल हुई हैं. कांग्रेस से जुड़े छात्र संगठन एनएसयूआई को सिर्फ एक सीट मिली है.

ये भी पढ़ें-
गोवा में कांग्रेस ने किया सरकार बनाने का दावा, कहा- हमारे पास है संख्याबल
मनगढ़ंत साबित हुए कार्यकर्ताओं के खिलाफ सबूत तो खुद ही खारिज हो जाएंगे आरोपः SC

Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *