हिंदी न्यूज़ – शहीद ने आतंकियों से कहा- ‘गोली मारना चाहते हैं तो मार दें, पर सवाल नहीं करें’ Shaheed told the terrorists If you want to shoot then kill, but do not question

कश्मीर के कुलगाम जिले में प्रादेशिक सेना के जवान ने आतंकवादियों को सेना की तैनाती के बारे में जानकारी देने के बजाय अपनी जान कुर्बान कर दी. लांस नायक मुख्तार अहमद मलिक से आतंकवादियों ने सेना की तैनाती के बारे में सवाल पूछा तो उन्होंने कहा, ‘‘अगर आप मुझे गोली मारना चाहते हैं तो मार दें लेकिन मुझसे सवाल मत पूछिए.’’

मलिक अपने बेटे की मौत के बाद अपने घर आए हुए थे. लांस नायक मलिक का बेटा दुर्घटना का शिकार हो गया था और सेना के एक अस्पताल में चार दिन तक मौत से जंग लड़ने के बाद 15 सितंबर को उसने दम तोड़ दिया था.

घटना के बारे में जानकारी देते हुए अधिकारियों ने बताया कि जब परिवार ‘रस्म-ए-चौरम’ (मौत के बाद का अनुष्ठान) की तैयारी कर रहा था तभी आतंकवादी 43 वर्षीय मलिक के घर में घुस गए. उनका आवास दक्षिण कश्मीर के आतंकवाद प्रभावित कुलगाम जिले के चुरत गांव में है.

चश्मदीदों के मुताबिक, अधिकारियों ने बताया कि आतंकवादी उनके दोस्त की गतिविधि पर नजर रख रहे थे. वह मलिक के घर पहुंचकर उनकी तलाश करने लगे.उन्हें मलिक घर की पहली मंजिल पर मिले. आतंकवादी उनसे सेना की तैनाती के बारे में सवाल करने लगे.

मौके पर मौजूद लोगों ने बताया कि मलिक ने आतंकवादियों से कहा, ‘‘ अगर आप मुझे गोली मारना चाहते हैं तो मार दीजिए, मगर मुझसे सवाल मत कीजिए.’’ इसके बाद, मलिक को करीब से गोली मार दी गई और उनकी मौके पर ही मौत हो गई. आतंकवादी मौके से भाग गए.

ये भी पढ़ें-
चाकुलिया नगर पंचायत में 16 गांव और जोड़ने का विरोध
बस व स्कॉर्पियो की टक्कर में दो लोगों की मौत, दो लोग जख्मी

Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *