हिंदी न्यूज़ – स्मार्ट फेंसिंग सिस्टम: ज़मीन, हवा और पानी में करेगा भारतीय सीमाओं की निगरानी-smart fencing system at international border Rajnath Singh inaugurates smart fence project smart border fencing pilot project

स्मार्ट फेंसिंग सिस्टम: ज़मीन, हवा और पानी में करेगा भारतीय सीमाओं की निगरानी

स्मार्ट फेंसिंग सिस्टम: ज़मीन, हवा और पानी में करेगा भारतीय सीमाओं की निगरानी

अमित पांडेय

अमित पांडेय

अमित पांडेय

| News18Hindi

Updated: September 17, 2018, 10:02 PM IST

देश का पहला स्मार्ट फेंसिंग प्रोजेक्ट जम्मू में भारत-पाकिस्तान सीमा पर शुरू किया गया. इस सिस्टम की सबसे बड़ी खूबी है कि बिना दुश्मन को पता चले उसकी हर चाल पर सुरक्षा एजेंसियों की पैनी नज़र रहेगी. गृहमंत्री राजनाथ सिंह ने इस सिस्टम को शुरू किया.

न्यूज 18 इंडिया को इस सिस्टम का ख़ास एक्सेस मिला है. खुद गृह मंत्री राजनाथ सिंह ने न्यूज 18 इंडिया से एक्सक्लूसिव बातचीत की जिसमें उन्होंने यह दावा किया कि स्मार्ट फेंसिंग सिस्टम बिल्कुल सुरक्षित है और ये तय समय सीमा के मुताबिक ही चल रहा है.

सुरक्षा एजेंसियों ने एक डेमोंस्ट्रेशन के ज़रिए यह समझाया कि कैसे आने वाले दिनों में स्मार्ट फेंसिंग सिस्टम काम करेगा. बता दें कि एक साथ कई सिस्टम काम करेंगे और इनको यूनिफाइड कमांड सेंटर कंट्रोल करेगा. पहले सीमा पर भारतीय सुरक्षा बल लगातार चौकसी करते थे. जैसे ही कोई हरकत उन्हें नज़र आती थी वायरलेस के ज़रिए वो पीछे की पार्टी को सूचित करते थे जिससे उनको मदद मिलती थी. लेकिन इस दौरान सुरक्षाबलों को बहुत ज्यादा खतरा रहता था, उन्हें नुकसान भी पहुंचता था और जवाबी कार्रवाई में देरी होती थी.

इसका नतीजा यह होता था कि दुश्मन अपने मंसूबों में कई बार कामयाब भी हो जाते थे. पठानकोट और उरी हमलों में भी ऐसा ही हुआ. इसके बाद भारत सरकार ने स्मार्ट फेंसिग सिस्टम की ज़रूरत को महसूस किया और इज़राइल सीमा की तर्ज़ पर इस सिस्टम को भारत में लगाने का फैसला किया गया.कैसे काम करता है ये सिस्टम

स्मार्ट फेंसिग सिस्टम को कांप्रिहेंसिव इंटिग्रेटेड बार्डर मैनेजमेंट सिस्टम के जरिए डेवलप किया गया है. इस सिस्टम के ज़रिए पानी, हवा और ज़मीन पर एक साथ निगरानी की जाएगी और एक ही वक्त पर उनकी गतिविधियों को कंट्रोल कमांड सेंटर से देखा जा सकेगा.
-पानी में सोनार सेंसर सिस्टम के ज़रिए निगरानी रखी जाएगी, पानी में ज़रा सी भी हरकत कमांड सेंटर को इसकी सूचना देंगी
-ज़मीन पर इन्फ्रारेड कैमरा सिस्टम जो रात में और हर मौसम में काम करते हैं, हाई रेजोल्यूशन सीसीटीवी कैमरा जो कि सीमा पर तैनात हैं उनकी फीड लेकर कंट्रोल रूम में मानिटरिंग होगी
-हवा में एरो स्टेट कैमरा तस्वीरें एजेंसियों को भेजेगा

गृहमंत्री राजनाथ सिंह ने न्यूज18 इंडिया से बातचीत में दावा किया कि यह सिस्टम बेहद सुरक्षित है. इज़राइल सीमा के तर्ज़ पर डेवलप किया गया यह सिस्टम बेहद कारगर और उपयोगी रहेगा. फिलहाल यह पायलट प्रोजेक्ट है. तमाम एजेंसियां इसका आकलन करेंगी. यह सिस्टम जम्मू में भारत-पाकिस्तान सीमा पर पांच किलोमीटर के दायरे में काम करेगा.

उन्‍होंने बताया कि सरकार की योजना है कि इसी साल जम्मू में पांच किमी के एक और स्ट्रेच को शुरू करे और असम में पचास किलोमीटर के दायरे में ये सिस्टम लगाया जाए. इसके अलावा आनेवाले तीन सालों में सरकार का लक्ष्य भारत-पाकिस्तान और भारत-बांग्लादेश की दो हज़ार किलोमीटर सीमा में यह सिस्टम लगाने का है.

और भी देखें

Updated: September 15, 2018 07:02 PM ISTVIDEO: राजनाथ सिंह ने फरीदाबाद में किया ‘स्वच्छता ही सेवा’ का आगाज

Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *