हिंदी न्यूज़ – Notice of contempt to Manoj Tiwari for allegedly breaking the seal of the premises-कथित रूप से परिसर का सील तोड़ने के मामले में मनोज तिवारी को अवमानना की नोटिस जारी

कथित रूप से परिसर का सील तोड़ने के मामले में मनोज तिवारी को अवमानना की नोटिस जारी

मनोज तिवारी की फाइल फोटो

भाषा

Updated: September 19, 2018, 2:49 PM IST

सुप्रीम कोर्ट ने नगर निगम द्वारा सील किये गये एक परिसर की सील कथित रूप से तोड़ने के मामले में बुधवार को दिल्ली प्रदेश बीजेपी अध्यक्ष एवं सांसद मनोज तिवारी को अवमानना नोटिस जारी किया. इससे पहले, अदालत ने इस घटना के बारे में शीर्ष अदालत द्वारा नियुक्त निगरानी समिति की रिपोर्ट पर गौर किया.

जस्टिस मदन बी लोकूर, जस्टिस एस अब्दुल नजीर और जस्टिस दीपक गुप्ता की पीठ ने बीजेपी सांसद मनोज तिवारी को 25 सितंबर को पेश होने का निर्देश देते हुये कहा कि यह बहुत ही दुर्भाग्यपूर्ण है कि एक निर्वाचित प्रतिनिधि ने शीर्ष अदालत के आदेशों की अवहेलना करने का प्रयास किया.

निगरानी समिति की रिपोर्ट के अवलोकन के बाद पीठ ने टिप्पणी की कि तिवारी द्वारा पूर्वी दिल्ली में एक परिसर की सील तोड़ने के आरोप ‘परेशान करने वाली स्थिति’ को दर्शाते हैं. सीलिंग मामले में न्याय मित्र की भूमिका निभा रहे वरिष्ठ अधिवक्ता रंजीत कुमार ने पीठ के समक्ष निगरानी समिति की रिपोर्ट पेश की और कहा कि इसके साथ ही कथित घटना से संबंधित एक वीडियो भी संलग्न है.

कुमार ने पीठ को सूचित किया कि पूर्वी दिल्ली नगर निगम की शिकायत के आधार पर तिवारी और अन्य के खिलाफ प्राथमिकी दर्ज की गयी है. गोकुलपुरी इलाके में सील किए गए एक परिसर का ताला तोड़ने के आरोप में मनोज तिवारी के खिलाफ मंगलवार को प्राथमिकी दर्ज करायी गयी है.उत्तर पूर्वी दिल्ली में स्थित यह संपत्ति सील की गयी थी क्योंकि इसमें दिल्ली के मास्टर प्लान का कथित रूप से उल्लंघन करके डेयरी चलायी जा रही थी. अदालत ने इससे पहले भी निगरानी समिति के काम में किसी भी प्रकार के हस्तक्षेप पर कड़ा रूख अपनाते हुये कहा था कि ऐसा करने वालों के खिलाफ कठोर कार्रवाई की जायेगी.

और भी देखें

Updated: September 15, 2018 11:02 PM ISTVIDEO: तीन माह बाद 9, मॉल एवन्यू में शिफ्ट हुईं बसपा सुप्रीमो मायावती

Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *