हिंदी न्यूज़ – Know About Riyaz Naikoo who allegedly took the responsibility of the abduction of 4 Policemen In Jammu And Kashmir–जानें कौन है रियाज नाइकू जिसने जम्मू और कश्मीर के चार पुलिसकर्मियों के अपहरण की ली जिम्मेदारी

जम्मू और कश्मीर के शोपियां जिला में अगवा करने के बाद आतंकवादियों ने तीन पुलिसकर्मियों की शुक्रवार सुबह गोली मार कर हत्या कर दी. यह जानकारी स्थानीय पुलिस ने दी. बता दें कि चार पुलिसकर्मियों का अपहरण किया गया है. इस अपहरण की हिजबुल मुजाहिदीन के कमांडर रियाज नाइकू ने 12 मिनट के एक वीडियो में कथित रूप से इसकी जिम्मेदारी ली.

नाइकू ने पुलिस हिरासत में मौजूद आतंकवादियों के रिश्तेदारों को रिहा करने के लिये तीन दिन का समय दिया था. पुलिस को तीन लोगों की हत्या का शक अब रियाज नाइकू पर जा रहा है. मारे गए पुलिसकर्मियों के शव वंगम इलाके में एक बाग से बरामद किए गए. इस जगह से करीब एक किलोमीटर दूर स्थित एक गांव से उन्हें अगवा किया गया था.

पुलिस ने मृतकों की पहचान कांस्टेबल निसार अहमद, दो विशेष पुलिस अधिकारियों – फिरदौस अहमद और कुलवंत सिंह के तौर पर की है. ये पुलिसकर्मी शोपियां जिला के कापरेन और हीपोरा इलाके से थे.

यह भी पढ़ें: जम्‍मू कश्‍मीर: तीन पुलिसकर्मियों की हत्‍या के बाद 4 एसपीओ ने दिया इस्‍तीफापुलिस ने बताया कि बाटागुंड गांव के निवासियों ने आतंकवादियों का पीछा किया और उनसे पुलिसकर्मियों को अगवा नहीं करने का अनुरोध किया, लेकिन आतंकवादियों ने हवा में गोली चलायी और ग्रामीणों को धमकी दी. उन्होंने बताया कि आतंकवादियों ने इलाके में एक नदी को पार किया और वहीं गोली मार कर पुलिसकर्मियों की हत्या कर दी.

कौन है रियाज नाइकू?

हिजबुल मुजाहिदीन का कश्मीर चीफ रियाज नाइकू ए++ कैटेगरी का आतंकवादी है. 29 साल का नाइकू, हिजबुल के सबसे अनुभवी कमांडरों में से एक है. वर्तमान में वह कश्मीर में आतंकी गतिविधियों को ऑपरेट कर रहा है. एक मुठभेड़ में मार गिराए गए यासीन इटू के बाद उसने कश्मीर ऑपरेशन संभाल लिया है.

अवंतीपोरा के दरबग का रहने वाला नाइकू हाईटेक है और उसे लेटेस्ट टेक्नोलॉजी की समझ है. पहली बार उसे एक आतंकवादी के जनाजे में सार्वजनिक तौर पर देखा गया था. उसके खिलाफ पुलिस में हत्या के कई मामले दर्ज है. इनमें से कुछ पुलिसकर्मियों की भी हत्या के मामले हैं.

यह भी पढ़ें:  कश्मीर: निकाय चुनावों का विरोध कर रहे लोगों ने शोपियां पंचायत घर में लगाई आग

नाइकू,  हिजबुल के लिए बड़े पैमाने पर ओवर ग्राउंड वर्कर (ओजीडब्ल्यू) का समर्थन जुटाने का भी काम करता है. हिजबुल कश्मीर घाटी का सबसे पुराना आतंकवादी संगठन है. उसने अपनी उदारवादी छवि बनाने के लिए 11 मिनट का एक वीडियो जारी कर कश्मीरी पंडितों से घाटी में लौटने की अपील की थी.

बीते दिनों हिजबुल मुजाहिदीन कमांडर रियाज नाइकू ने कश्मीर के लोगों को चेतावनी दी है कि वे आगामी पंचायत चुनावों में हिस्सा न लें. आतंकी रियाज ने कहा है कि उसके संगठन ने तेजाब पहले से खरीद रखा है कि जो भी चुनावों में शामिल होगा उसके ऊपर हम तेजाब फेंक देंगे.

यह भी पढ़ें:  BSF जवान के बेटे ने कहा- अभी तो हमें शहादत पर गर्व है, लेकिन 2-3 दिन बाद क्या होगा?

Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *