हिंदी न्यूज़ – इंदौर में सिरफिरे आशिक ने 38 बार हंसिया मारकर की लड़की की हत्या | girl stabbed to death in indore over love affair

वो उस लड़की पर हंसिये से वार करता जा रहा था और कहता जा रहा था ‘तुझे प्यार करता था, तुझे समझ में नहीं आया..’ रात का वक्त था, अंधेरा था लेकिन इंदौर शहर की जिस सड़क पर यह सारा तमाशा हो रहा था, वहां उस वक्त भी खासी चहल पहल थी. कुछ ही देर में पुलिस वहां पहुंची और खून से लथपथ लाश को खुद से चिपकाकर चीख रहे इस कातिल को किसी तरह काबू कर गिरफ्तार किया.

इंदौर के विजय नगर में एक मीडिया हाउस में काम करने वाली सुप्रिया की इस बेदर्दी से हत्या के पीछे कुछ सालों की एक प्रेम कहानी थी. सुप्रिया मध्य प्रदेश के दमोह में पली बढ़ी थी. उसकी स्कूलिंग के दौरान एक साथी था कमलेश. कमलेश हाई स्कूल के वक्त से ही सुप्रिया का दीवाना था. उसे देखता, उस पर नज़र रखता और उसकी गली व घर के पास चक्कर लगाता रहता. उस वक्त कमलेश को भी नहीं पता था कि उसकी दीवानगी एक दिन किस अंजाम तक पहुंच जाएगी.

सुप्रिया जब 12वीं क्लास में पढ़ रही थी, तब कमलेश ने उससे अपनी मोहब्बत का इज़हार किया और अपनी दीवानगी में कहा कि वह पिछले कुछ सालों से उसे चाहता है लेकिन कहने की हिम्मत अब हुई. कमलेश की दीवानगी से सुप्रिया वाकिफ नहीं थी, ऐसा नहीं था. सुप्रिया ने अक्सर उसे ऐसे लड़के के तौर पर नोटिस किया था जो उस पर निगाहें जमाए रखता था और उसके चक्कर लगाया करता था. सुप्रिया ने कमलेश के प्रपोज़ल को न तो मंज़ूर किया और न ही ठुकराया.

एक उम्मीद, एक सब्ज़बाग दिखाकर कमलेश को और दीवाना बनाकर छोड़ दिया. इज़हार के वक्त कमलेश से सुप्रिया ने कहा –

अभी पढ़ने लिखने की उम्र है कमलेश, तुम भी पढ़ाई में ध्यान लगाओ. ये सब खयाल अपने दिल से निकाल दो. मैं पढ़ लिखकर कुछ बनना चाहती हूं. अभी कॉलेज पूरा करना है और फिर अच्छा जॉब करना है. अभी हम सिर्फ दोस्त बन सकते हैं. और जिस दिन मुझे अच्छा जॉब मिलेगा, उस दिन तक अगर सब कुछ ठीक रहा तो मैं भी तुमसे कहूंगी, आय लव यू.

सुप्रिया की इस बात को कमलेश ने उसका इकरार समझा और वह मन ही मन खुश रहने लगा. कमलेश यही समझने लगा था कि सुप्रिया उसकी गर्लफ्रेंड बन चुकी है. सुप्रिया ने सालों बाद की बात की थी लेकिन कमलेश ने खुद को यकीन दिला दिया था कि सुप्रिया भी उससे प्यार करती है. एक छोटे से शहर में रहने के कारण दोनों की मुलाकातें और कैज़ुअल बातचीत आए-दिन हुआ करती थी.

Indore murder case, murder in indore, lover killed girl, Madhya Pradesh news, indore news, इंदौर हत्याकांड, इंदौर में हत्या, आशिक ने की हत्या, मध्य प्रदेश समाचार, इंदौर समाचार

कॉलेज की पढ़ाई और फिर जॉब के सिलसिले में सुप्रिया इंदौर शिफ्ट हो गई. इस दौरान सुप्रिया का पीछा करना, वह किससे मिलती जुलती है, ये सब खबरें रखना और फिर इस बारे में सुप्रिया से बातचीत करना कमलेश की फितरत बन चुका था. इंदौर जैसे शहर यानी दमोह की तुलना में बड़े शहर का रहन सहन अलग था. एक मिडिल क्लास फैमिली की लड़की जब इस शहर में पहुंची तो उसका फैशन टेस्ट भी बदला और एक नये तरह की लाइफस्टाइल को उसने जीना शुरू किया.

कलीग्स, रूममेट्स और दोस्तों की सोहबत में सुप्रिया कभी सिनेमा देखने जाती तो कभी शॉपिंग तो कभी आउटिंग. कमलेश को इन तमाम बातों पर ऐतराज़ होने लगा. फ्रेंड सर्कल में लड़के क्यों हैं? फलां लड़के के साथ मुस्कुराते खिलखिलाते हुए बातचीत क्यों की? लड़के जिस ग्रुप में थे, उस ग्रुप के साथ डिनर पर क्यों गई थी? ऐसे कपड़े क्यों पहनती हो? इस तरह के सवाल कमलेश अक्सर सुप्रिया से पूछता और अक्सर इन बातों पर नाराज़गी ज़ाहिर करता.

सुप्रिया और कमलेश का साथ या पहचान कई सालों की हो चुकी थी और दमोह से रही थी इसलिए कमलेश को बॉयफ्रेंड न मानने के बावजूद सुप्रिया उसके साथ एक ऐसे रिश्ते में फंसी हुई थी जिसमें कमलेश को उसे क्लैरिफिकेशन देने पड़ते थे. यह सुप्रिया को कतई पसंद नहीं था इसलिए उसने एक दिन कमलेश के ज़्यादा बिगड़ने पर उसे साफ शब्दों में समझा दिया कि वह खुद को उसका प्रेमी न समझे और इतनी रोक टोक न करे.

अब ये बात कमलेश को नागवार गुज़री और उसने खुद को छला हुआ महसूस किया. कमलेश को यही लगा कि उसकी प्रेमिका ने उसे धोखा दे दिया है. ब्रेकअप की बात हो गई है. कमलेश इतने वक्त में खुद को इस तरह से यकीन दिला चुका था इसलिए वह मानने को तैयार ही नहीं था कि सुप्रिया ने कभी उससे मोहब्बत का इकरार नहीं किया था. उसने सुप्रिया को सबक सिखाने का पक्का इरादा कर लिया था.

एक मीडिया हाउस में बैक आॅफिस स्टाफ के तौर पर काम करने वाली सुप्रिया पर कमलेश कुछ दिनों तक नज़र रखता रहा. फिज़िकली ही नहीं बल्कि उसके फेसबुक और सोशल मीडिया पोस्ट्स के ज़रिये भी उसने सुप्रिया की एक्टिविटीज़ को ट्रेस किया. बीते 13 सितंबर की रात सुप्रिया एक मंदिर में गई और फिर मंदिर से सीधे अपने आॅफिस पहुंची. आॅफिस की सीढ़ियां चढ़ते हुए उसे खयाल आया कि वह अपना डिनर पैक करवाना तो भूल ही गई थी.

सीढ़ियों से ही सुप्रिया वापस रोड के दूसरे किनारे पर बने एक फूड जॉइंट से डिनर पैक करवाने के लिए गई. इसी बीच, देर रात वहां पहले से ही कमलेश घात लगाए बैठा था. कमलेश ने अपने चेहरे पर एक रूमाल को नकाब की तरह बांध रखा था. जैसे ही सुप्रिया सड़क किनारे पर पहुंची, कमलेश ने उसे कसकर पकड़ लिया. बाल खींचकर सुप्रिया को ज़मीन पर पटक दिया. सुप्रिया चीखने चिल्लाने लगी और आसपास के लोग ये चीखें सुनने लगे.

Indore murder case, murder in indore, lover killed girl, Madhya Pradesh news, indore news, इंदौर हत्याकांड, इंदौर में हत्या, आशिक ने की हत्या, मध्य प्रदेश समाचार, इंदौर समाचार

अगले ही पल कमलेश ने इंदौर के सराफा बाज़ार से कुछ ही रोज़ पहले खरीदा धारदार हंसियानुमा एक औज़ार निकाला और सुप्रिया पर पहला हमला किया. सुप्रिया के पेट से खून बहने लगा और अब उसकी चीख कराह में बदल गई. ‘आय लव यू’ कहता जा रहा था, गुस्सा ज़ाहिर करता जा रहा था और सुप्रिया पर हंसिये से बेतहाशा हमले करता जा रहा था. भीड़ में से दो लड़के चिल्लाते हुए कमलेश को रोकने के लिए उसके पास पहुंचे तो कमलेश ने हंसिया उनकी तरफ घुमाते हुए कहा – ‘अगर बीच में आए तो तुम भी मरोगे’.

दोनों लड़के पीछे हट गए और सड़क की तरफ मदद लेने दौड़े. वहां उन्हें पुलिस की एक डायल 100 वैन गुज़रती दिखाई दी तो उन्होंने किसी तरह वैन को रोककर वारदात की जानकारी दी. पुलिस फौरन मौके की तरफ भागी. जब तक पुलिस पहुंचती और कमलेश को काबू करती, वह तकरीबन 38 बार हंसिये से हमला कर चुका था और खून से लथपथ सुप्रिया लाश बन चुकी थी.

ये भी पढ़ें

बंगाल में मिली लाश की जांघ पर लिखे दो नंबरों से खुली बिहार की लव स्टोरी
रकीब को चाय पिलाकर बेहोश किया, फिर धड़ से काटकर अलग कर दिया सिर
मां के रेप-मर्डर केस में 22 साल बाद बेटी ने facebook से लगाया कातिल का पता
लड़की के साथ दो रातें बिताना चाहता था इसलिए टॉर्चर करता रहा एकतरफा आशिक
‘मेरे बाप ने हत्या करवाई लेकिन मैं प्रणय की निशानी को जन्म ज़रूर दूंगी’

PHOTO GALLERY : खबरदार! NetFlix की दीवानगी में कहीं आपके साथ न हो जाए आॅनलाइन फ्रॉड

Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *