हिंदी न्यूज़ – बुरहान वानी की बरसी से पहले कश्मीर में तनाव, कई हिस्सों में लगाई गईं पाबंदियां- Restrictions in parts of Kashmir ahead of Burhan Wani’s death anniversar

बुरहान वानी की बरसी से पहले कश्मीर में तनाव, कई हिस्सों में लगाई गईं पाबंदियां

सांकेतिक तस्वीर

भाषा

Updated: July 8, 2018, 12:00 AM IST

हिज्बुल मुजाहिदीन के कमांडर बुरहान वानी की बरसी से पहले कश्मीर में शनिवार को कानून व्यवस्था को बनाए रखने के लिए ऐहतियातन कुछ पाबंदियां लगाई हैं. इस दौरान अलगाववादियों द्वारा किये गए हड़ताल के आह्वान का भी मिलाजुला असर देखने को मिला.

एक पुलिस अधिकारी ने कहा कि दक्षिण कश्मीर के पुलवामा जिले के त्राल कस्बे और श्रीनगर के नौहट्टा और मैसुमा पुलिस थाना क्षेत्रों में पाबंदियां लगाई गई हैं. उन्होंने कहा कि कानून – व्यवस्था को बरकरार रखने और किसी भी अप्रिय घटना को रोकने के लिये ऐहतियाती तौर पर ये कदम उठाए गए हैं.

दक्षिण कश्मीर के अनंतनाग जिले के कोकरनाग इलाके में आठ जुलाई 2016 को हुई एक मुठभेड़ में सुरक्षाबलों ने त्राल के रहने वाले वानी को मार गिराया था. उसकी मौत के बाद घाटी में बड़े पैमाने पर हिंसक प्रदर्शन हुए थे और लंबे समय तक कर्फ्यू लगा रहा था. करीब चार महीने तक चले विरोध प्रदर्शनों के दौरान सुरक्षाबलों और प्रदर्शनकारियों के बीच हुई झड़पों में करीब 85 लोगों की जान गई थी.

अधिकारी ने कहा कि समूची घाटी में संवेदनशील जगहों पर अतिरिक्त बलों को तैनात किया गया है. इस बीच महिलाओं के कट्टरपंथी संगठन दुख्तरान ए मिल्लत की प्रमुख आसिया अंद्राबी को राष्ट्रीय जांच एजेंसी (एनआईए) द्वारा दिल्ली स्थानांतरित किए जाने के विरोध में बुलाई अलगाववादियों की हड़ताल का घाटी में मिलाजुला असर रहा.ज्वाइंट रेसिस्टेंस लीडरशिप (जेआरएल) के बैनर तले अलगाववादियों ने शुक्रवार को अंद्राबी और उसकी साथियों को स्थानांतरित किए जाने के विरोध में हड़ताल का आह्वान किया था. जेआरएल ने लोगों से पूर्ण बंदी रखने और सड़कों पर न निकलने की अपील की थी. जेआरएल में सैयद अली शाह गिलानी, मीरवाइज उमर फारूक और यासीन मलिक शामिल हैं.

अधिकारियों ने कहा कि शहर के लाल चौक इलाके में जहां दुकानें और कारोबारी प्रतिष्ठान बंद थे वहीं शहर के दूसरे हिस्सों में हालात सामान्य थे. वानी की बरसी से पहले अलगाववादी नेताओं पर प्रशासन ने शिकंजा कसते हुए शुक्रवार को यासिन मलिक को हिरासत में ले लिया था जबकि मीरवाइज और गिलानी को नजरबंद रखा गया है.

ये भी पढ़ें:

J&K: कुलगाम में सेना और प्रदर्शनकारियों के बीच झड़प, फायरिंग में तीन की मौत

मुंबई में अगले 24 घंटे तेज बारिश की चेतावनी, कई जगह ट्रेने रोकी गईं

और भी देखें

Updated: July 07, 2018 11:48 PM ISTमसूद अज़हर ने बनाई जैश के आतंकियों की ‘नेवी ब्रिगेड’, 26/11 दोहराने की ‘साजिश’

Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *