हिंदी न्यूज़ – जानिए क्‍यों सेवादल की ड्रेस बदल रही है कांग्रेस- Why Congress revamping seva dal cadre with new dress

Ranjeeta Jha

Ranjeeta Jha

| News18Hindi

Updated: July 7, 2018, 11:58 PM IST

कांग्रेस का जमीनी संगठन सेवादल अब जल्द ही नए रंग रूप में नज़र आएगा. सेवादल के कार्यकर्ता अब टीशर्ट-जींस और स्‍पोर्ट्स टोपी पहने नजर आएंगे. संगठन की महिला कार्यकर्ताओं की ड्रेस में भी बदलाव किया जाएगा. राहुल गांधी की पहल पर अब सेवादल के कार्यकर्ताओं के लिए नया ड्रेस कोड तैयार किया गया है. सेवादल की यूथ ब्रिगेड के लोग अब नीली जीन्स और सफेद टीशर्ट में नज़र आएंगे.

क्‍यों करना पड़ा बदलाव
सेवादल के चीफ़ ऑर्गेनाइज़र लालजी देसाई ने बताया, ‘सिर्फ़ ड्रेसकोड ही नहीं बदला है. कांग्रेस का सेवादल अब तिरंगे के अलावा किसी को सलामी भी नहीं देगा. अब किसी भी व्‍यक्ति के सामने झुकना मना है. ड्रेस में पहले भी बदलाव किया गया था. आजादी के समय ड्रेस बदली थी. अब देश के काम की जरूरत और देश के साथियों की जरूरत के हिसाब से ड्रेस को बदल रहे हैं.’ उन्‍होंने कहा कि ड्रेस इसलिए बदली गई है क्‍योंकि लड़ाई और संघर्ष का समय है तो ड्रेस भी ऐसी हो की लड़ाई में आसानी हो, जनसेवा में आसानी हो.

देसाई के मुताबिक़ राहुल गांधी की प्रेरणा से सेवादल नए ज़माने के मुताबिक़ खुद को ढालेगा. आने वाले समय में ऐसे कई बदलाव देखने को मिलेंगे.सेवादल में होंगे ये बदलाव
* युवा ब्रिगेड की ड्रेस में अब सफेद टीशर्ट, नीली जीन्स और स्पोर्ट्स टोपी होगी.
* महिलाओं का ड्रेसकोड भी बदलेगा. नई ड्रेस का फैसला खुद महिलाएं करेंगी.
* तिरंगे के अलावा किसी अन्‍य झंडे को सलामी नहीं दी जाएगी.
* नेताओ की सुरक्षा और इंतज़ाम देखने की बजाय सेवादल अब नेतृत्व निर्माण और राजनीतिक दिशा देने का काम करेगा.
* सेवा दल का नया स्लोगन होगा- गांव-शहर गली गली अब लड़ेगा सेवादली.

सेवादल का इतिहास
कांग्रेस सेवादल की स्थापना एक जनवरी 1924 को हिंदुस्तानी सेवा दल के नाम से हुई थी. इसे कांग्रेस कार्यसमिति ने 1931 में बदलकर सेवादल कर दिया था. इसके पहले अध्यक्ष पूर्व प्रधानमंत्री पंडित जवाहर लाल नेहरु थे. सेवा दल की स्थापना का उद्देश्य सामाजिक जीवन में सेवा भाव को बढ़ावा देना था. आज़ादी के दौर में गांधी टोपी सेवा दल की पहचान हुआ करती थी. आज़ादी के बाद भी कई बड़े नेता सेवा दल से निकले जिन्होंने राजनीति में अपना योगदान दिया. राजीव गांधी सेवा दल के प्रभारी थे और कहा जाता है कि उनके कार्यकाल में सेवा दल को सबसे ज्‍यादा मजबूती और पहचान मिली.

और भी देखें

Updated: July 07, 2018 11:58 PM ISTजानिए क्‍यों सेवादल की ड्रेस बदल रही है कांग्रेस

Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *