हिंदी न्यूज़ – कर्नाटकः भारी बारिश से जीवन अस्त-व्यस्त, अगले 24 घंटे और अधिक बारिश होने की संभावना-public life at halt in karnataka, next 24 hours may get more rain

कर्नाटक के मलंड क्षेत्र में पिछले दो दिनों से लगातार तेज़ बारिश हो रही है. इसकी वजह से चिकमंगलूर ज़िले में 48 साल की एक औरत वनजा की मौत हो गई. जून के पहले हफ्ते में मानसून आने के साथ ही अब तक दो दर्जन जानें जा चुकी हैं.

राज्य की राजधानी बेंगलुरू में पिछले एक महीने से कोई ठीक से बारिश नहीं हो रही थी लेकिन पिछले दो घंटे से यहां काफी बारिश हो रही है जिसकी वजह से काफी स्थानों पर जलभराव की स्थिति बन गई है और कई जगहों पर ट्रैफिक जाम की भी स्थिति बन गई है.

ये भी पढ़ेंः मुंबई में भारी बारिश का कहर जारीः पटरियों में पानी भरा, नाव से बचाए गए यात्री

बारिश की वजह से दक्षिण कन्नड़, उडुपी और उत्तर कन्नड़ जैसे तटीय ज़िलों में जीवन अस्त-व्यस्त हो गया है. जबकि नेत्रवती, कुमाराध्र, स्वर्ण, सीता, वाराही और काली जैसी कई बड़ी नदियों में बाढ़ की स्थिति बनी हुई है.कोडगू, हासन,चिकमंगलूर और शिमोगा जैसे ज़िलों में भी काफी बारिश हो रही है जिसकी वजह से इन ज़िलों में भी जीवन अस्त-व्यस्त हो गया है. बारिश और भूस्खलन की वजह से कई रास्ते बंद हो गए हैं.

कोडगू ज़िले में कावेरी नदी खतरे के निशान से ऊपर बह रही है जिसकी वजह से आसपास के गांवों और नगरों से सारे संपर्क टूट गए हैं. मैसूर के पास स्थित केआरएस बांध काफी तेज़ी से भर रहा है और इसकी अधिकतम ऊंचाई 124 फीट तक पहुंचने में सिर्फ 11 फीट ही बाकी हैं. कावेरी नदी की सहायक नदियां हरंगी, कपिला, काबिनी और हेमावती भी उफान पर हैं.

कर्नाटक मुख्यमंत्री कुमारस्वामी ने मौखिक तौर पर जल संसाधन विभाग को निर्देश दिया है कि वो जलाशयों से कुछ पानी को पड़ोसी राज्य तमिलनाडु में छोड़ दें.

ये भी पढ़ेंः मुंबई हाईकोर्ट का रेलवे से सवाल, मानसून से पहले तैयारी क्यों नहीं?

चिकमंगलूर ज़िले से शुरू होने वाली तुंग और भद्रा नदियों में भी पश्चिमी घाट में भारी बारिश होने की वजह से पानी का बहाव काफी तेज़ है. तुंग नदी श्रृंगेरी के पास काफी तेज़ी से बह रही है जिसकी वजह से शहर में लोगों में तनाव का माहौल है.

 

पड़ोसी ज़िले शिमोगा में शरावती नदी में भी काफी मात्रा में पानी आ रहा है. साथ ही कर्नाटक के सबसे बड़े जलाशय लिंगनमक्की में भी हर चौबीस घंटे में करीब 35 हज़ार क्यूसेक पानी भर रहा है. ‘कर्नाटक स्टेट नेचुरल डिज़ास्टर मॉनीटरिंग सेल’ (केएसएनडीएमसी) ने अगले चौबीस घंटों में कर्नाटक के तटीय इलाकों में भारी बारिश होने की संभावना जताई है.

कर्नाटक के मुख्यमंत्री एचडी कुमारस्वामी ने संबंधित ज़िला प्रशासन को हाई एलर्ट पर रहने का निर्देश दिया है.

Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *