हिंदी न्यूज़ – पांचजन्य ने कहा- संजू फिल्म का मकसद पैसा कमाना है या संजय की छवि में चार चांद लगाना?-RSS-Affiliated Weekly Panchajanya Tears Into ‘Sanju’, Rakes Up Conviction, Marriages and Ties With Daughter

संजय दत्त की बायोपिक  ‘संजू’ पर राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ की नाराजगी साफतौर पर झलक रही है. संघ के मुखपत्र पांचजन्य में छपे लेख में इस बात को महसूस किया जा सकता है. इसमें लिखा गया है कि मुंबई का फिल्म उद्योग माफियाओं और अंडरवर्ल्ड को महिमामंडित करने वाली फिल्में क्यों बना रहा है. बता दें कि केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी ने दो दिन पहले इस फिल्‍म की तारीफ की थी. उन्‍होंने इस फिल्‍म को काफी खूबसूरत बताया था. इस दौरान उन्‍होंने मीडिया को भी निशाने पर लिया था.

पांचजन्य के ताजा अंक को ‘संजू’ मूवी पर ही फोकस किया है. संघ के मुखपत्र की कवर स्टोरी ‘किरदार दागदार’ में लिखा है, ‘संजू फिल्म बनाने के पीछे राजकुमार हिरानी का मकसद क्या संजय दत्त की छवि में चार-चांद लगाना है या बॉक्स ऑफिस पर पैसा बटोरना? या फिर उन्हें संजय दत्त की जिंदगी ऐसी लगती है जिसमें युवाओं को सीखने को बहुत कुछ है? मुंबई का फिल्म उद्योग माफियाओं और अंडरवर्ल्ड को महिमामंडित करने वाली फिल्म बना रहा है? यह संजय दत्त ही हैं जिनकी 1993 में बम्बई बम धमाकों के अपराधियों से सांठगांठ थी, जिसके लिए उन्हें जेल की सजा भी हुई.’

यह भी पढ़ें: Trivia: जब संजय दत्त की वजह से सुनील दत्त को गिरवी रखना पड़ा था अपना घर

पांचजन्य के इस लेख में इस बात पर भी सवाल उठाए गए है कि क्या यह किसी के दागदार दामन को उजला दिखाने के लिए की करोड़ों रुपए बहाकर की गई PR एक्सरसाइज है? साथ ही यह भी लिखा गया है कि ‘बाबा’ के कई ऐबों को या तो फिल्म में छुपा लिया गया है या सरसरी तौर पर जिक्र करने के बाद गुम कर दिया गया है. इस लेख में तीन शादियां रचाने और फिल्म के अनुसार 308 लड़कियों से रिश्ते रखने के लिए संजय को ‘रंगीन मिजाज’ भी लिखा गया है.

पांचजन्य में सवाल उठाया गया है कि क्या दत्त की जिंदगी एक बयोपिक है? पत्रिका में निर्देशक राजकुमार हिरानी की निंदा की गई और लिखा है कि उनकी फिल्म पीके ‘हिंदू विरोधी’ थी. लिखा गया है, ‘क्या ये लक्षण एक शानदार नायक के लिए अर्हता प्राप्त करते हैं? क्या बॉलीवुड एक आदर्श के रूप में उनकी सेवा करने की कोशिश कर रहा है? … यह फिल्म राजकुमार हिरानी ने बनाई है, वही निर्देशक जो फिल्म पीके में शामिल थे और हिंदू धर्म का मजाक उड़ाया था. अब संजू के साथ, हिरानी युवाओं के लिए एक नया रोल मॉडल पेश करना चाहता है … संजय दत्त ने अपने जीवन में क्या असाधारण काम किया है कि बॉलीवुड ने बायोपिक बनाया है?’

यह भी पढ़ें: ‘संजू’ देखकर भावुक हुए रियल ‘कमली’, लिखी संजय दत्त के लिए ये चिट्ठी

लेख में लिखा गया है,  ‘यह पहली बार नहीं है कि बॉलीवुड ने अंडरवर्ल्ड के लोगों पर फिल्म बनाई है. पिछले कुछ सालों में, दाऊद इब्राहिम, उनकी बहन हसीना, छोटा राजन, अरुण गवली, गुजरात के अब्दुल पर फिल्म बनाई है. सोशल मीडिया पर सवालों का ढेर लगा है. क्या इसमें खाड़ी देशों का पैसा इस्तेमाल किया गया है?’

Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *