हिंदी न्यूज़ – ब्रिटेन-आयरलैंड की तर्ज पर खुली सीमा कश्मीर का हल: फारूक अब्दुल्ला

जम्मू कश्मीर के पूर्व मुख्यमंत्री फारूक अब्दुल्ला ने ब्रिटेन शासित उत्तरी आयरलैंड और आयरिश गणराज्य से जुडे क्षेत्र के बीच खुली सीमा को कश्मीर मुद्दे के लिए सर्वश्रेष्ठ विकल्प बताया है.

लंदन यात्रा पर गए नेशनल कांफ्रेंस के नेता ने कहा कि भारत और पाकिस्तान को यह अवश्य महसूस करना चाहिए कि समस्या का कोई सैन्य हल नहीं है.

उन्होंने बुधवार को लंदन में स्कूल ऑफ आरिएंटल एंड अफ्रीकन स्टडीज द्वारा आयोजित एक चर्चा के दौरान कहा, ‘‘आयरलैंड की तरह दोनों कश्मीर के लिए एक मात्र रोडमैप एक आसान सीमा और स्वायत्ता है.’’

अब्दुल्ला ने कहा कि यदि परमाणु शक्ति संपन्न दोनों राष्ट्र यह महसूस करते हैं कि जो कुछ भी समाधान निकल कर आएगा उसे वे स्वीकार करेंगे, तो कश्मीर का हल हो सकता है. लेकिन भारत, पाकिस्तान, जम्मू कश्मीर और लद्दाख के कम से कम 70 – 80 फीसदी लोगों को इसे स्वीकार करना होगा.गौरतलब है कि आयरलैंड शैली का हल 1920 का है, जहां दोनों देशों के लोगों को एक दूसरे के क्षेत्र में जाने के लिए न्यूनतम पहचान दस्तावेजों की जरूरत होती है.

उन्होंने कहा कि सख्ती का प्रयोग कर क्षेत्र के लोगों का दिल नहीं जीता जा सकता.

ये भी पढ़ें: जम्‍मू-कश्‍मीर के कुपवाड़ा में सेना ने दो आतंकियों को AK56 के साथ पकड़ा

Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *