हिंदी न्यूज़ – रेल बोर्ड की मंजूरी की बिना जोन का बड़ा फैसला/Zone major decision without approval of railway board

उत्तर रेलवे का बड़ा फैसला, 300 ट्रेनों का रन टाइम बढ़ाया

Image for representation.

Chandan Kumar

Chandan Kumar

Updated: July 14, 2018, 7:32 AM IST

ट्रेनों के लगातार लेट चलने की वजह से हो रही किरकिरी से बचने के लिए भारतीय रेल ने करीब 300 ट्रेनों के रन टाइम को आधिकारिक तौर पर बढ़ा दिया है, लेकिन इसके लिए रेल बोर्ड से कोई अनुमति तक नहीं ली गई है.

उत्तर रेलवे ने अपनी 95, दक्षिण रेलवे ने 92 जबकि पूर्व मध्य रेलवे ने 88 ट्रेनों का रन टाइम बढ़ा दिया है. यह समय 15 से लेकर एक घंटे तक बढ़ाया गया है, जो ट्रेनों के अंतिम स्टेशन पर पहुंचने का नया समय होगा. ट्रेनों के रन टाइम बढ़ाने वाले जोन का दावा है कि इसके लिए रेल मंत्री से बात कर अनुमति ली गई है.

ये भी पढ़ें- अब Whatsapp पर मिलेगा ट्रेनों का Live स्टेटस

हर रोज़ ट्रेनों की लेटलतीफी, हर रोज मुसाफिरों की परेशानी, भारतीय रेल की यह सच्चाई मुसाफिरों के लिए लंबे समय से मुश्किल बना हुआ है. नौबत ये आ गई है कि रेलवे की पंचुअलिटी भी हाल के समय में बहुत गिरी है और इसकी महज 65 फीसद के आसपास ट्रेनें ही समय पर चल पाती हैं. जाहिर है जो ट्रेनें घंटे भर की देरी से चल रही थीं वो अब लेट होकर भी आंकड़ों में राइट टाइम दिखेंगीं. यह बदलाव 12 जुलाई से लागू किया गया है.सूत्रों के मुताबिक, रेलवे बोर्ड जोनल स्तर पर किए गए इस बदलाव से काफी नाराज़ है. कुछ ही दिन पहले रेल मंत्री पीयूष गोयल ने रेलवे के ‘मिशन रफ्तार’ के बारे में घोषणा की थी कि रेलवे का लक्ष्य अगले 5 साल में ट्रेनों की स्पीड को 25 किलोमीटर तक बढ़ाना है. इसके लिए हर साल ट्रेनों की स्पीड को 5 किलोमीटर प्रति घंटे तक बढ़ाई जाएगी, लेकिन ट्रेनों के रन टाइम को बढ़ा देने से रेलवे के मिशन रफ्तार को बड़ा झटका लगा है.

 

और भी देखें

Updated: July 08, 2018 09:12 PM ISTचंदौलीः शुरू हुई मुगलसराय को दीनदयाल उपाध्याय जंक्शन में बदलने की प्रक्रिया

Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *