amit shah planning for 50 years in government reveals his plan – आने वाले 50 साल तक सत्ता में बने रहने के लिए अमित शाह ने तैयार किया प्लान, कार्यकर्ताओं से किया शेयर

भाजपा अध्यक्ष अमित शाह अपनी रणनीतिक कुशलता के लिए जाने जाते हैं। अब एक बार फिर कर्नाटक विधानसभा चुनावों में अमित शाह ने अपनी रणनीतिक समझ का बेहतरीन प्रदर्शन किया है। जिस तरह से कांग्रेस के मुकाबले पिछड़ने के बावजूद भाजपा कर्नाटक में सबसे बड़ी पार्टी बनकर उभरी है, उसके पीछे अमित शाह का बहुत बड़ा हाथ है। कर्नाटक चुनावों के बाद अब अमित शाह ने साल 2019 के लोकसभा चुनावों की तैयारी शुरु कर दी है। अहम बात ये है कि अमित शाह ने खुलासा किया है कि उनकी योजना सिर्फ 2019 या 2024 को लोकसभा चुनाव जीतने की ही नहीं है, बल्कि अगले 50 सालों तक सत्ता में बने रहने की है।

ये है अमित शाह का प्लानः गुरुवार को भारतीय जनता पार्टी के मोर्चों की संयुक्त राष्ट्रीय कार्यसमिति बैठक को संबोधित करते हुए भाजपा अध्यक्ष अमित शाह ने कहा कि ‘सवाल ये नहीं है कि 2019 या 2024 तक चुनाव जीतना है। हमें देश में लंबे समय तक जनता के बीच जगह बनानी है, 50 साल तक सत्ता में रहने की तैयारी से काम करना है, मतलब हमें संगठन मजबूत बनाना होगा।’ लंबे समय तक सत्ता में बने रहने के लिए अमित शाह ने प्लान भी तैयार कर लिया है। कार्यकर्ताओं के साथ यह प्लान साझा करते हुए अमित शाह ने कहा कि हमें घर-घर जाकर पार्टी की योजनाएं लोगों को बतानी हैं, उनसे पार्टी के नंबर पर मिस्ड कॉल करवानी है, ताकि पता चल सके कि कार्यकर्ता कितने घर गए हैं। हो सके तो कार्यकर्ता व्हाट्सएप लोकेशन भी केन्द्रीय पदाधिकारियों से शेयर करें। हमें ज्यादा से ज्यादा लोगों को नमो एप से जोड़ना है। इसके साथ-साथ लोगों को बूथ तक भी पहुंचाना है।

उल्लेखनीय है कि आज के समय में भारतीय जनता पार्टी का काडर बेहद मजबूत है और हाल के कई चुनावों से यह और भी मजबूत हुआ है। बूथ मैनेजमेंट के फार्मूले से भाजपा ने कई चुनावों में जीत हासिल की है और अब पार्टी की कोशिश है कि संगठन को और भी ज्यादा मजबूत बनाया जाए। यही वजह है कि आगामी लोकसभा चुनावों की तैयारी पार्टी ने अभी से ही शुरु कर दी है और पार्टी अध्यक्ष लगातार संगठन पदाधिकारियों के साथ बैठकें कर रहे हैं। वहीं कर्नाटक में भी राजनैतिक उठा-पटक शुरु हो गई है। चुनावों में सबसे बड़ी पार्टी बनकर उभरी भाजपा को राज्यपाल द्वारा सरकार बनाने का न्यौता दिया गया था, जिसके बाद आज सुबह बीएस येदियुरेप्पा ने सीएम पद की शपथ ग्रहण की। अब येदियुरेप्पा को 15 दिन का समय दिया गया है, जिसमें उन्हें बहुमत साबित करना होगा। वहीं भाजपा को सरकार बनाने का न्यौता देने के राज्यपाल के फैसले के विरोध में कांग्रेस और जेडीएस के नेताओं ने धरना-प्रदर्शन शुरु कर दिया है। दोनों ही पार्टियों ने अपने-अपने विधायकों को रिजॉर्ट या होटलों में ठहरा दिया है, ताकि विधायकों की खरीद-फरोख्त को रोका जा सके।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App




Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *