BJP MP Shatrughan Sinha slams on PM Narendra Modi, CBSE Paper Leak, Man ki Baat, Dil ki Baat – पीएम मोदी पर शत्रुघ्न सिन्हा का तंज: मन की बात छोड़िए, दिल की बात कीजिए- बच्चों-युवाओं के भविष्य से खिलवाड़ क्यों?

पूर्व केंद्रीय मंत्री और भाजपा सांसद शत्रुघ्न सिन्हा ने फिर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर तंज कसा है। सीबीएसई परीक्षा का प्रश्नपत्र लीक होने के मामले में एक के बाद एक ताबड़तोड़ चार ट्वीट किए और पीएम मोदी से कहा कि अगर आप मन की बात नहीं कर सकते तो कम से कम दिल की बात तो कीजिए। क्यों बच्चों और युवाओं के भविष्य से खिलवाड़ किया जा रहा है। शत्रुघ्न सिन्हा ने लिखा है कि सीबीएसई का पर्चा लीक होना न सिर्फ शर्म की बात है बल्कि बच्चों, युवाओं और उनके अभिभावकों को परेशान करने वाला है। उन्होंने लिखा है कि अधिकारियों द्वारा दिया जा रहा स्पष्टीकरण काफी नहीं है। उन्होंने लिखा है कि इसकी क्या गारंटी है कि पुनर्परीक्षा में पर्चा लीक नहीं होगा? इसके अलावा भाजपा सांसद ने यह भी लिखा है कि सिर्फ एक पेपर का रि-एग्जाम क्यों? सभी पेपर का क्यों नहीं? अन्य पेपर्स का पर्चा लीक नहीं हुआ, इसकी कौन गारंटी लेगा?

बड़ी खबरें

शत्रुघ्न सिन्हा ने लिखा है कि क्या रि-एग्जामिनेशन इस समस्या का समाधान है? क्यों देश के करीब 28-30 लाख विद्यार्थी परेशान हों और फिर से मानसिक तनाव के दौर से गुजरें, जब उन्होंने इसके लिए कोई गलती ही नहीं की? वो सिर्फ इसलिए भुगतें क्योंकि यह पूरा मामला सीबीएसई की नाकामी और शिक्षा माफिया की देन है। शत्रुघ्न सिन्हा ने सीबीआई पर भी सवाल खड़े किए हैं। उन्होंने लिखा है कि इस जांच एजेंसी ने अब अपनी चमक खो दी है। यह अब पवित्र गाय नहीं रह गई मगर बिक्री योग्य गाय जरूर बन गई है। उन्होंने लिखा है कि क्या ऐसी स्थिति में हमें अब इस मामले की जांच का जिम्मा सीबीआई को सौंपना चाहिए?

बता दें कि सीबीएसई ने 12वीं के अर्थशास्त्र की परीक्षा रद्द कर दी है और उसके पुनर्परीक्षा की तारीख 25 अप्रैल तय की है। इधर, यह बात सामने आई है कि सीबीएसई का पेपर लीक होने के बाद 10 व्हाट्सअप ग्रुप में शेयर किया गया था। कुछ लोगों ने इसके लिए जहां 35 हजार रुपये खर्च किए थे तो कुछ लोगों को पेपर 500-500 रुपये में उपलब्ध हुए थे। दिल्ली पुलिस की क्राइम ब्रांच ने पेपर लीक से जुड़े मामले में कई ट्यूटर, छात्रों और उनके परिजनों समेत करीब 60 लोगों से पूछताछ कर चुकी है।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App



Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *