BJP MP Vinay Katiyar replies to AIMIM chief Asaduddin Owaisi, says India was made on the basis of religion, all Muslims must leave India and be sent to Pakistan or Bangladesh- बीजेपी सांसद विनय कटियार बोले- बांग्लादेश या पाकिस्तान जाएं मुसलमान, यहां उनका क्या काम

भारतीय जनता पार्टी के सांसद विनय कटियार ने ऑल इंडिया मज्लिस ए इतेहदुल मुसलिमीन के प्रमुख व सांसद असदुद्दीन ओवैसी के बयान पर प्रतिक्रिया दी है। ओवैसी ने लोक सभा में मांग की थी कि केंद्र को एक बिल लाना चाहिए जिसके तहत भारतीय मुस्लिम को ‘पाकिस्‍तानी’ कहने वाले शख्‍स को तीन साल जेल का प्रावधान होना चाहिए। कटियार ने इसपर प्रतिक्रिया देते हुए कहा है कि ‘भारत के मुसलमान पाकिस्‍तान या बांग्‍लादेश चले जाएं, यहां उनका क्‍या काम है।’ बीजेपी सांसद ने एएनआई से बातचीत में कहा, ”मुसलमान तो इस देश के अंदर रहना नहीं चाहिए। उन्‍होंने तो जनसंख्‍या के आधार पर देश का बंटवारा कर लिया तो फिर यहां इस देश के अंदर रहने की क्‍या आवश्‍यकता थी। उनको अलग भूभाग दे दिया गया। बांग्‍लादेश या पाकिस्‍तान जाएं, यहां क्‍या काम है उनका।” कटियार ने यह भी मांग की कि ‘एक विधेयक लाकर ऐसे लोगों को सजा देने का प्रावधान होना चाहिए जो वंदे मातरम का सम्‍मान नहीं करते, राष्‍ट्रीय ध्‍वज का अपमान करते हैं…पाकिस्‍तानी झंडा लहराते हैं। उन्‍हें सजा होनी चाहिए।’

बड़ी खबरें

लोकसभा में बोलते हुए ओवैसी ने कहा था कि वह इस बात को लेकर निश्चिंत हैं क‍ि उनकी मांग नहीं सुनी जाएगी। उन्‍होंने कहा क‍ि भाजपा-नीत सरकार ऐसा कोई बिल नहीं लाएगी। ओवैसी ने कहा कि भारत में रह रहे मुसलमानों ने मोहम्‍मद अली जिन्‍ना के दो देशों के सिद्धांत को नकार दिया था। लोकसभा में राष्‍ट्रपति के अभिभाषण पर चर्चा में हिस्‍सा लेते हुए ओवैसी ने दावा किया कि ट्रिपल तलाक बिल ‘महिला विरोधी है।’

लगभग दो साल पहले, मार्च 2016 में ओवैसी को ‘पाकिस्‍तान जाओ’ के नारों का सामना करना पड़ा था। तब ओवैसी ने ‘भारत माता की जय’ कहने से इनकार कर दिया था, जिसपर विरोध जताते हुए शिवसेना ने ‘पाकिस्‍तान चले जाने’ को कहा था। इस पूरे विवाद पर ओवैसी का कहना था कि ”मैं कभी भारत माता की जय नहीं कहूंगा क्‍योंकि भारतीय संविधान में यह नारा अनिर्वाय नहीं हैं। अगर वो मेरी गर्दन पर छुरा भी रख दें, तो भी नहीं कहूंगा।”

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App




Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *