BJP President Amit Shah, Karnataka Election 2018, Congress uses Sidharamaih Government as ATM – अमित शाह बोले- कांग्रेस ने एटीएम की तरह किया कर्नाटक का इस्तेमाल, सिर्फ निकाला पैसा

भाजपा अध्यक्ष अमित शाह ने आज दावा किया कि कर्नाटक के लोगों ने 12 मई को होने वाले विधानसभा चुनाव में सिद्धरमैया सरकार को‘‘ उखाड़ फेंकने’’ का मन बना लिया है क्योंकि विभिन्न मोर्चों खासकर भ्रष्टाचार को लेकर वे उससे‘‘ निराश’’ हैं। मैसुरू, मांड्या और रामनगर जिलों का दौरा कर रहे शाह ने कहा कि उनकी पार्टी चुनाव में पुराने मैसुरू क्षेत्र में अच्छा प्रदर्शन करेगी। मैसुरू क्षेत्र में कांग्रेस एवं पूर्व प्रधानमंत्री एच डी देवगौड़ा के नेतृत्व वाली जनता दल( सेक्यूलर) के बीच चुनावी मुकाबला है। पिछले चुनाव में भाजपा इन जिलों में एक भी सीट नहीं जीत पायी थी। हासन, चमराजनगर, मैसुरू, मांड्या और रामनगर पुराने मैसुरू क्षेत्र में आते हैं।

शाह ने कहा, ‘‘कर्नाटक के लोगों ने सिद्धरमैया सरकार को उखाड़ फेंकने का मन बना लिया है। वे कई मोर्चे पर उससे निराश है, भ्रष्टाचार प्रमुख मुद्दा है। भ्रष्टाचार और कांग्रेस पार्टी के बीच संबंध मछली और पानी के संबंध जैसा है।’’ उन्होंने कहा, ‘‘ कर्नाटक सरकार कांग्रेस के लिए एक एटीएम की तरह है जिसका इस्तेमाल भ्रष्टाचार के लिए किया गया।’’ शाह ने आरोप लगाया कि सिद्धरमैया सरकार के शासन में भ्रष्टाचार के साथ ये संबंध और गहरे हुए हैं। उन्होंने कहा कि जद( एस) सरकार बनाने की स्थिति में नहीं है क्योंकि वह कुछ ही सीटें जीत सकती है और भाजपा अकेली पार्टी है जो कांग्रेस को हरा सकती है।

संबंधित खबरें

भाजपा अध्यक्ष ने किसानों की आत्महत्या को लेकर कहा, ‘‘करीब 3,500 किसान आत्महत्या कर चुके हैं और सिद्धरमैया इन्हें मामूली घटनाएं बता रहे हैं। अपने राजनीतिक जीवन में मैंने किसानों की आत्महत्या को लेकर इतना गैर जिम्मेदाराना बयान नहीं देखा।’’ उन्होंने एक सवाल के जवाब में कहा कि राज्य की कांग्रेस सरकार चुनाव के बाद बी एस येदियुरप्पा को मुख्यमंत्री बनने से रोकने और समुदाय को बांटने के उद्देश्य से लिंगायतों के लिए धार्मिक अल्पसंख्यक दर्जे का मुद्दा उठा रही है।

शाह ने मैसुरू के वडियार शाही परिवार के साथ अपनी चर्चाओं का खुलासा करने से इनकार कर दिया। ऐसी अटकलें हैं कि पार्टी 12 मई को होने वाले विधानसभा चुनाव में उनका समर्थन हासिल करने की कोशिश कर रही है। उन्होंने यहां संवाददाताओं से कहा, ‘‘जहां तक शाही परिवार के सदस्यों के साथ मेरी मुलाकात की बात है, मैं केवल इतना कहना चाहता हूं कि यह एक शिष्टाचार भेंट थी। हालांकि हमारे बीच क्या हुआ, मैं इसका खुलासा नहीं कर सकता।’’ मैसुरू की यात्रा कर रहे शाह कल यहां शाही परिवार से उनके निजी महल में मिले थे जिससे शाही परिवार के भाजपा का समर्थन करने की अटकलें तेज हो गयीं।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App



Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *