BJP spokesperson Sambit Patra clashed with Congress leader Rajeev Tyagi in live TV debate – टीवी डिबेट में भिड़े बीजेपी-कांग्रेस प्रवक्ता, संबित पात्रा बोले- बदतमीजों के साथ बहस नहीं करना चाहता

सिंभावली शुगर्स लिमिटेड में कांग्रेस शासित पंजाब के मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह के दामाद गुरपाल सिंह के खिलाफ एफआईआर दर्ज होने के बाद राजनीति गरमा गई है। इसको लेकर ‘न्यूज 18 इंडिया’ पर लाइव डिबेट चल रही थी। बहस में कांग्रेस प्रवक्ता राजीव त्यागी तू-तड़ाम पर उतर आए। इससे बीजेपी प्रवक्ता संबित पात्रा बेहद नाराज हो गए। उन्होंने टीवी एंकर से कहा कि वह बदतमीजों से बहस नहीं करना चाहते हैं। दरअसल, डिबेट के दौरान संबित पात्रा डायमंड बिजनेस में राउंड-ट्रिपिंग की बात कर रहे थे। उसी दौरान कांग्रेस नेता बीच में बोल पड़े कि इस मसले पर तो पहले ही बहस हो चुकी है। संबित ने कहा कि वह किसी के बीच में नहीं बोले थे, लिहाजा उन्हें बोलने दिया जाए। इस पर राजीव त्यागी बोल बैठे कि ‘तुम किसी के बीच में बोलने लायक नहीं हो।’ कांग्रेस नेता के तल्ख बयान पर संबित पात्रा भड़क गए। नाराज पात्रा ने एंकर से कहा, ‘आप तुम-तड़ाक करा कर बहस कराएंगे? मुझे इस डिबेट से जाने की अनुमति दीजिए। मैं इस तरह के बदतमीज लोगों के साथ डिबेट नहीं करना चाहता। आपको ऐसे प्रवक्ताओं को बहस से बाहर रखना चाहिए। बहस में तू-तड़ाक नहीं होता है।’ इस दौरान भाजपा प्रवक्ता ने कांग्रेस के वरिष्ठ नेता और पूर्व वित्त मंत्री पी. चिदंबरम पर गंभीर आरोप लगाए। उन्होंने कहा कि वित्त मंत्री रहते हुए चिदंबरम ने डायमंड पर आयात शुल्क कम कर दिया था, क्योंकि उन्होंने हीरा कारोबारियों से पैसे लिए थे।

संबंधित खबरें

बता दें कि बैंक से फर्जी तरीके से लोन लेने के मामले में सीबीआई ने पंजाब के सीएम कैप्टन अमरिंदर सिंह के दामाद और सिंभावली शुगर्स लिमिटेड के डीजीएम गुरपाल सिंह के खिलाफ एफआईआर दर्ज की है। गुरपाल के अलावा कंपनी और ओरिएंटल बैंक ऑफ कॉमर्स के 12 अन्य वरिष्ठ अधिकारियों को भी इस मामले में आरोपी बनाया गया है। पंजाब नेशनल बैंक घोटाले में नीरव मोदी और मेहुल चौकसी का नाम सामने आने के बाद कांग्रेस भाजपा पर हमलावर हो गई थी। विपक्षी पार्टी इसको लेकर लगातार प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को कठघरे में खड़ा कर रही थी। अब अमरिंदर सिंह के दामाद के खिलाफ मामला दर्ज होने पर भाजपा ने पलटवार किया है। ओबीसी ने सभी आरोपियों पर फर्जी तरीके से तकरीबन 98 करोड़ रुपये का लोन लेने का आरोप लगाया है। सीबीआई ने इस मामले में दिल्ली, हापुड़ और नोएडा में कई जगहों पर छापे मारे हैं।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App



Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *