Chandra Grahan 2018 LIVE Streaming Online Video, Lunar Eclipse 2018 India Live Telecast NASA, Super Blood Moon Live: Watch Today Chandra Grahan 2018 Live Here – चंद्र ग्रहण 2018 LIVE: 1.16 घंटा रहा साल का पहला पूर्ण चंद्र ग्रहण, जानें हर जानकारी

Chandra Grahan 2018 Today Live Streaming:  आज साल 2018 का पहला चंद्र ग्रहण हुआ। आम दिनों की तुलना में चांद आज 14 फिसदी बड़ा नजर आया। शास्त्रों में ग्रहण के बाद दान देने के बारे में बताया गया है। कहा जाता है ग्रहण के बाद दान करने से ग्रहण का बुरा असर नहीं पड़ता है।  साल 2018 में ऐसा पहली बार हो रहा है जब एक ही दिन माघ पूर्णिमा, चंद्रग्रहण, सुपर मून और ब्लू मून का संयोग बना। चंद्र ग्रहण के दिन अशुभ काल को सूतक काल कहा जाता है। इस दौरान कोई भी शुभ काम नहीं किए जाते हैं। खगोल जानकारों के मुताबिक चंद्र ग्रहण एक दुर्लभ घटना होती है। शुरुआती चंद्र उदय को आसानी से देख पाना बहुत मुश्किल होता है। चंद्र ग्रहण देखने के लिए वैज्ञानिक बहुत सुक्ष्म दूरबीनों का प्रयोग करते हैं। इस बार चंद्र ग्रहण सुपर ब्लू ब्लड मून होगा। इससे पहले ऐसा 1866 में ऐसा हुआ था। अमेरिकी अंतरिक्ष एजेंसी नासा के मुताबिक इस महीने के आखिर में एक बार फिर सुपर ब्लू मून दिखाई दे सकता है।

बड़ी खबरें

33 साल से कम उम्र के लोगों के लिए ब्लड मून देखने का ये पहला मौका रहा। नासा के अनुसार पिछली बार ऐसा ग्रहण 1982 में लगा था और इसके बाद ऐसा मौका 2033 में यानी 25 साल के बाद आएगा। सूपरमून एक खगोलिय घटना है जिसमें मून अपने कक्षा से धरती के पास आ जाता है, जिससे पूरे चांद को हम स्पष्ट रूप से देख सकते हैं। भारत के अलावा यह दुर्लभ नजारा समूचे उत्तर अमरीका, प्रशांत क्षेत्र, पूर्वी एशिया, रूस के पूर्वी भाग, इंडोनेशिया, ऑस्ट्रेलिया और न्यूजीलैंड में भी दिखाई दिया।

31 जनवरी को होने वाली पूर्णिमा की तीन खासियत है। पहली यह कि यह सुपरमून की एक श्रृंखला में तीसरा अवसर है जब चांद धरती के निकटतम दूरी पर होगा। दूसरी यह कि इस दिन चांद सामान्य से 14 फीसदा ज्यादा चमकीला दिखेगा। तीसरी बात यह कि एक ही महीने में दो बार पूर्णिमा होगी, ऐसी घटना आमतौर पर ढाई साल बाद होती है। नासा के प्रोग्राम एग्जिक्यूटिव व लूनर ब्लागर गॉर्डन ने नासा की ओर से जारी एक बयान में कहा कि चांद जब धरती की छाया में रहेगा तो इसकी आभा रक्तिम हो जाएगी जिसे रक्तिम चंद्र या लाल चांद कहते हैं।

पूरे उत्तरी अमेरिका, प्रशांत क्षेत्र से लेकर पूर्वी एशिया में इस दिन पूर्ण चंद्रग्रहण दिखा। अमेरिका, अलास्का, हवाई द्वीप के लोग 31 जनवरी को सूर्योदय से पहले चंद्र ग्रहण देख पाएंगे जबकि मध्य पूर्व के देश समेत एशिया, रूस के पूर्वी भाग, आस्ट्रेलिया और न्यूजीलैंड में सुपर ब्लू ब्लडमून 31 जनवरी को सुबह चंद्रोदय के दौरान लोग देख पाए। दिसंबर में हुई पूर्णमासी के चांद को कोल्ड मून कहा जाता है और 2017 में यह पहला सुपरमून था जिसका लोगों ने दीदार किया। चांद का आकार सामान्य से सात फीसदी बड़ा लग रहा था और यह सामान्य से 15 फीसदी ज्यादा चकमीला था।

चंद्र ग्रहण समय: भारतीय ज्योर्तिविज्ञान परिषद के मुताबिक,पृथ्वी चंद्र ग्रहण के प्रभाव वाले क्षेत्र में 04 बजकर 22 मिनट में दाखिल हुआ। दरअसल, इस दौरान पृथ्वी की एक आंशिक बाहरी छाया चंद्रमा पर पड़ी। आंशिक चंद्रग्रहण शाम 5 बजकर 18 मिनट से शुरू हुआ। पूर्ण चंद्रग्रहण शाम 06:22 बजे से लेकर 07:38 बजे तक रहा। आंशिक चंद्रगहण खत्म होने का वक्त 8 बजकर 41 मिनट है। चंद्रमा के पृथ्वी की छाया से पूरी तरह रात 9 बजकर 39 मिनट पर बाहर निकलने के साथ ही चंद्र ग्रहण की प्रक्रिया का अंत है।

चंद्र ग्रहण से जुड़ी सभी खबरें पढ़ने के लिए तस्वीर पर क्लिक करें।

आप इस लिंक पर क्लिक कर देख सकते हैं लाइव चंद्रग्रहण 

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App




Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *