Diana Hayden Hits Back at Tripura CM Biplab Kumar Deb for Belittling Her Miss World Title – बोलने से पहले जरा सोच लें बिप्लब देब- त्रिपुरा के सीएम को डायना हेडन ने दिया जवाब

सौंदर्य प्रतियोगिताओं की विश्वस्यनीयता पर सवाल खड़ा करने वाले और उनके आयोजकों को ‘मार्केटिंग माफिया’ के तमगे से बुलाने वाले त्रिपुरा के मुख्यमंत्री बिप्लब कुमार देव पूर्व मिस वर्ल्ड डायना हेडन के बारे में टिप्पणी कर एकबार फिर विवादों में फंस गए। 21 वर्ष पहले डायना हेडन को दिए गए ताज पर बिप्लब देब ने गुरुवार (26 अप्रैल) को सवाल उठा दिया था। उन्होंने कहा था कि 1997 में मिस इंडिया वर्ल्ड बनीं डायना हेडन ताज के काबिल नहीं थीं। इस पर डायना हेडन ने कई मीडिया हाउस से बात करते हुए बिप्लब देब को जवाब दिया कि वह बोलने से पहले जरा सोच लिया करें। मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक डायना हेडन ने कहा- ”मैं बचपन से रंगभेद की आलोचनाओं से जूझ रही हूं। और मैं सफल हूं। लोगों को मेरी उपलब्धियों का महत्व कम करने के बजाय उन पर गर्व करना चाहिए। मैं एक भूरी त्वचा वाली भारतीय होने के नाते गौरवान्वित हूं। मुझे दुख है। मंत्री का एक विशिष्ट कद है और वह जो कहते हैं उसके लिए उन्हें परवाह करनी चाहिए।”

हालांकि बिप्लब देव ने 1994 में विश्व सुंदरी बनीं ऐश्वर्या राय की तारीफ की थी और कहा था कि वह सही मायने में भारतीय महिलाओं का प्रतिनिधित्व करती हैं। द नॉर्थ ईस्ट टुडे की खबर के मुताबिक बिप्लब देव ने गुरुवार को कहा था कि पुराने समय में भारतीय महिलाएं कॉस्मेटिक इस्तेमाल नहीं करती थीं। वे शैंपू का इस्तेमाल नहीं करती थीं। वे बालों के गिरने पर मेथी के पानी और मिट्टी से बाल धोती थीं। उन्होंने कहा था कि सौंदर्य प्रतियोगिताओं के आयोजक अंतरराष्ट्रीय मार्केटिंग माफिया हैं, जिन्होंने 125 करोड़ भारतीयों के बाजार पर कब्जा करने की कोशिश की, जिनमें आधी महिलाएं हैं। हर कोने में एक ब्यूटी पार्लर है।”

बिप्लब देब ने कहा था कि भारतीय महिलाएं जब अंतरराष्ट्रीय सौंदर्य प्रतियोगिताएं जीतने लगीं तो सौंदर्य उत्पाद बनाने वाली कंपनियों को भारत के बाजारों में अपने उत्पाद घुसाने का मौका मिल गया। उन्होंने कहा था कि सभी अंतरराष्ट्रीय फैशन और डिजाइन प्रतियोगिताओं के पेरिस आधारित आयोजनकर्ता ‘अंतरराष्ट्रीय मार्केटिंग माफिया’ है। हाल ही में बिप्लब देव महाभारत काल में इंटरनेट और सैटेलाइट उपलब्ध होने का दावा कर विवादों में आ गए थे।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App



Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *