Haryana: Brahmins protest against controversial questionnaire in HSSC recruitment exam – हरियाणा: परीक्षा में पूछा-काले ब्राह्मण से मिलना अपशकुन है कि नहीं, मच गया बवाल

हरियाणा कर्मचारी चयन आयोग (एचएसएससी) की ओर से पिछले महीने 10 अप्रैल को जूनियर सिविल इंजीनियर पदों के लिए आयोजित की गई परीक्षा में कथित तौर पर एक विवादित प्रश्न पूछे जाने पर अब बवाल मचा है। इस प्रश्न को लेकर ब्राह्मण समाज का विरोध प्रदर्शन तेज दिख रहा है। विवाद दरअसल प्रश्नपत्र के 75वें प्रश्न को लेकर है। इस प्रश्न में पूछा गया था- हरियाणा में कौन-सा अपशकुन नहीं माना जाता है? इस प्रश्न के लिए चार विकल्प (1) खाली घड़ा (2) फ्यूल भरा कास्केट (3) काले ब्राह्मण से मिलना (4) ब्राह्मण कन्या को देखना… दिए गए थे। आखिरी के दो विकल्पों को लेकर ब्राह्मण समाज आपत्ति और नाराजगी जता रहा है। इस प्रश्न का सही उत्तर ‘ब्राह्मण कन्या को देखना’ बताया गया था। मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक राज्य में राष्ट्रीय ब्राह्मण संघ और अखिल भारतीय ब्राह्मण आरक्षण संघर्ष समिति के बैनर तले भारी विरोध प्रदर्शन किया गया। ब्राह्मण समाज का कहना है कि परीक्षा में ऐसे प्रश्नों से अपमान होता है और इस प्रकार की जातिगत टिप्पणियों से भाईचारे में कमी आ सकती है। सोशल मीडिया पर भी यह मामला वायरल हो रहा है।

विवादित प्रश्न का यह स्क्रीनशॉट वायरल हो रहा है।

ब्राह्मण समाज ने आयोग के चेयरमैन और प्रश्न पत्र को तैयार करने वाले शख्स को हटाने और उनके खिलाफ कानूनी कार्रवाई की मांग की है। ब्राह्मण समजा ने इस बाबत राज्यपाल, मुख्यमंत्री, शिक्षा मंत्री, राज्यसभा सांसद, लोकसभा सांसद और पुलिस अधीक्षक को शिकायती पत्र भेजे हैं। ब्रह्मण समाज ने अपनी शिकायत में पूछा है- क्या आयोग काले ब्राह्मण को देखना अपशकुन मानता है, क्या आयोग ऐसे प्रश्नों को जनरल नॉलेज मानता है और प्रश्न पत्र तैयार करने बाद क्या उनकी जांच भी नहीं होती कि पूछा क्या जा रहा है?

आयोग की तरफ से इस प्रश्न को लेकर खेद व्यक्त किया गया है और जांच में दोषी पाए जाने वाले के खिलाफ कार्रवाई की बात कही गई है। वहीं हरियाणा के स्वास्थ्य मंत्री अनिल विज ने भी इस मामले पर पूछे जाने पर प्रतिक्रिया दी है। अनिल बिज ने कहा है कि ऐसे प्रश्न नहीं पूछे जाने चाहिए, लेकिन आयोग के चेयरमैन के खिलाफ कार्रवाई के सवाल पर उन्होंने कहा कि छोटी सी बात पर इस तरह की मांग करना ठीक नहीं है कि पीएम को हटा दो, सीएम को हटा दो, चेयरमैन को हटा दो, जिसने गलती की है उसके खिलाफ कार्रवाई होनी चाहिए।’

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App



Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *