indian railway irctc brings menu on rail app for check mrp before ordering of food items – ट्रेन में महंगी तो नहीं खरीद रहे खाने की चीजें? Menu On Rail ऐप से ऐसे करें चेक

भारतीय रेलवे, अपने यात्रियों के सफर को सुगम बनाने के लिए कई कदम उठा रही है। ऐसे ही एक कदम के तहत अब रेलवे ‘मेन्यू ऑन रेल’ नामक नया एप लेकर आया है, जिस पर मेन्यू का एमआरपी मूल्य देखकर खाना ऑर्डर किया जा सकता है। इस एप के लॉन्च होने के बाद रेल यात्रियों की वह शिकायत दूर हो सकेगी, जिसमें यात्री खाने के ज्यादा पैसे वसूलने के आरोप लगाते रहे हैं। ‘मेन्यू ऑन रेल’एप को आज रेलमंत्री पीयूष गोयल ने लॉन्च किया। इस एप की मदद से हमसफर ट्रेन, राजधानी, शताब्दी, दुरंतो, गतिमान एक्सप्रेस, तेजस एक्सप्रेस जैसी ट्रेनों में सफर करने वाले यात्री खाना ऑर्डर करने से पहले ही उसका मूल्य देख सकेंगे और फिर अपनी सहूलियत के हिसाब से खाना ऑर्डर कर सकेंगे।

फूड आइटम 4 कैटेगरी में बांटे गए हैं, जिनमें बेवरेजेज, ब्रेकफास्ट, मील्स और ला-कारटे शामिल है। ला-कारटे कैटेगरी में खाने के 96 आइटम शामिल किए गए हैं। साथ ही लाइट मील्स, कोम्बो मील्स, मांसाहारी, जैन फूड, मिठाईयां, डायबिटिक फूड आदि भी मेन्यू ऑन रेल एप पर उपलब्ध होगा। फूड आइट्म्स के रेट ट्रेनों के साथ ही रेलवे स्टेशनों पर मौजूद फूड स्टेशन आदि पर भी डिस्पले किए जाएंगे। मेन्यू ऑन रेल एप की मदद से शताब्दी ट्रेन और राजधानी, दुरंतो ट्रेनों में खाने की प्री-बुकिंग भी की जा सकेगी। यह सुविधा शताब्दी ट्रेन के एग्जीक्यूटिव चेयरकार और एसी चेयरकार में और राजधानी और दुरंतो में 1ए, 2ए और 3ए डिब्बों में मिलेगी। खबर है कि अपने समय से देर में पहुंचने वाली ट्रेनों में भी मेन्यू दिया जाएगा। मेन्यू ऑन रेल एप मोबाइल के साथ ही लैपटॉप और कंप्यूटर पर भी वेबसाइट की तरह इस्तेमाल की जा सकेगी।

संबंधित खबरें

बता दें कि इससे पहले रेलवे ने यात्रियों को यह सुविधा भी दी थी, जिसके तहत वेंडर द्वारा रेल के अंदर खाने का बिल नहीं देने पर यात्री खाने का भुगतान ना करने के लिए भी स्वतंत्र थे। इसके साथ ही रेलवे ने ‘रेल मदद’ नामक एप भी लॉन्च की है। इस एप का उद्देश्य यात्रियों को सफर के दौरान होने वाली परेशानियों पर ध्यान देना और उन्हें दूर करना है। यात्री रेल मदद एप की मदद से अपनी शिकायत रेलवे को देंगे और इसके बाद रियल टाइम के हिसाब से रेलवे इन परेशानियों को दूर करेगा। यह एप कम से कम जानकारी लेकर यात्रियों की शिकायत दर्ज करेगी और उसके बाद यात्री को एक यूनिक आईडी देगी। इसी आईडी के आधार पर समस्याओं का समाधान किया जाएगा।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App



Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *