JCO who was attacked the day two civilians were killed after a group of people pelted stones- भीड़ ने कर दिया था जेसीओ का यह हाल, तब सेना ने मार गिराए थे दो पत्‍थरबाज

दक्षिण कश्मीर के शोपियां में सुरक्षाबलों की फायरिंग में दो नागरिकों की मौत के बाद जम्मू-कश्मीर पुलिस ने सेना पर केस दर्ज किया है। भाजपा विधायकों ने जहां सेना पर से केस हटाने की मांग की है, वहीं पर महबूबा मुफ्ती सरकार ने इससे इन्कार करते हुए कहा है कि केस को मुकाम पर पहुंचाएंगे। सेना की फायरिंग में 20 साल के जावेद और 24 साल के सुहैल की मौत हुई थी। सेना ने आत्मरक्षा में फायरिंग की बात कही। बताया गया कि प्रदर्शनकारियों ने शोपिया जिले के गनोवपुरा गांव से गुजर रहे सुरक्षा बलों के काफिले पर पथराव किया, तब जाकर जवानों को फायरिंग करने के लिए मजबूर होना पड़ा।

समाचार एजेंसी एएनआई की ओर से दो तस्वीर जारी हुई है। जिसमें सेना के एक जूनियर कमीशंड अफसर( जेसीओ) बुरी तरह घायल दिख रहे हैं। दूसरी तस्वीर में सेना की गाड़ी के शीशे टूटे हैं। बताया जा रहा है कि प्रदर्शनकारियों की भीड़ ने जब अफसर का यह हाल कर दिया तो मजबूर सेना को गोली चलानी पड़ी। शुरुआत में जवानों ने हवाई फायरिंग कर प्रदर्शनकारियों को खदेड़ने की कोशिश की। बावजूद इसके प्रदर्शनकारी टस से मस नहीं हुए उल्टे जूनियर कमीशंड अफसर से हथियार छीनकर पीट-पीटकर हत्या करने की कोशिश करने लगे, तब जाकर जवानों को गोलियां चलानी पड़ीं। पहले दोनों युवक घायल हुए थे, उन्हें श्रीनगर में एक अस्पताल ले जाया गया। जहां इलाज के दौरान मौत होने पर युवकों गनोवपुरा और पास के इलाके में हालात तनावपूर्ण है।

बड़ी खबरें

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App




Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *