Know why Railways to sack 13,000 employees in Modi gov-13000 कर्मचारियों को बाहर का रास्ता दिखाएगा रेलवे, जानें क्या है वजह

भारतीय रेलवे ने 13 हजार से ज्यादा कर्मचारियों को नौकरी से निकालने की तैयारी की है। ये वे कर्मचारी हैं जो लंबे अरसे से अनुचित तरीके से अनुपस्थित चल रहे हैं। रेलमंत्री पीयूष गोयल की ओर से ऐसे कर्मचारियों के खिलाफ अभियान चलाकर चिह्नित करने के बाद रेलवे में हड़कंप मचा है। 13 लाख में से 13 हजार कर्मचारी फिलहाल चिह्नित हुए हैं। रेलवे ने अपने एक बयान में कहा,’लंबे समय से अनुपस्थित चल रहे ऐसे कर्मचारियों के खिलाफ विभागीय नियमों के तहत अनुशासनात्मक कार्रवाई चल रही है।’ रेलवे की ओर से कहा गया है कि सभी अधिकारियों और पर्यवेक्षकों को चिन्हित कर्मचारियों को उचित प्रक्रिया के तहत बाहर करने का निर्देश दिया गया है।

North Western Railway Recruitment,North Western Railway Recruitment 2017,North Western Railway Recruitment, North Western Railway Recruitment 2017,Apply online here www.rrcactapp.in, Indian Railway Jobs, Rajasthan Railway Jobs Government job Recruitment 2017 notification,North Western Railway Recruitment 2017 apply online,North Western Railway JOBS, GOVT JOBS, Indian Railway Exam,North Western Railway ,GOVT JOBS, North Western Railway Vacancy,North Western Railway Vacancies,North Western Railway apprentice posts Vacancies,North Western Railway Vacancy for apprentice, latest news, latest updates तस्वीर का इस्तेमाल सिर्फ प्रस्तुतिकरण के लिए किया गया है।

दरअसल रेलवे में वैसे ही स्टाफ की भारी कमी है, ऊपर से जो कर्मचारी हैं, उनमें भी तमाम ड्यूटी नहीं करते। रेलमंत्री पीयूष गोयल को ऐसी तमाम शिकायतें मिल रहीं थीं। ज्यादातर कर्मचारी बगैर सक्षम स्तर से अनुमति लिए नौकरी से गैरहाजिर चल रहे थे। कुछ कर्मचारी तो अपने रसूख के दम पर ड्यूटी नहीं करते थे, मगर सेलरी भी ले रहे थे। जब पीयूष गोयल ने रेल मंत्री का चार्ज संभाला तो उन्होंने सबसे पहले मानव संसाधऩ को दुरुस्त कर सौ प्रतिशत इसके उपयोग पर जोर दिया। जिसके क्रम में उन्होंने सभी जोन को निर्देश दिया कि वे अभियान चलाकर नकारा कर्मचारियों को चिह्नित कर लिस्ट तैयार करें। फिर उनके खिलाफ चार्जशीट तैयार कर उचित प्रक्रिया का इस्तेमाल कर नौकरी से बाहर करें। ताकि रेलवे ऐसे कर्मचारियों का बोझ उठाने से बचे।

बड़ी खबरें

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App




Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *