PNB घोटाला: इस बिजनेसमैन का दावा- मोदी सरकार को 2016 में ही किया था अलर्ट, नहीं लिया कोई एक्शन – Nirav Modi, PNB Fraud Scam Latest News, Punjab National Bank PNB Share Price News: business man Hari Prasad S V claims that he warns irregularities of diamond businessman Nirav Modi Mehul Choksi to pmo long ago

डायमंड मर्चेंट नीरव मोदी और उसके मामा मेहुल चौकसी के ठिकाने की तलाश कर रही जांच एजेंसियों को अब तक कामयाबी हासिल नहीं हुई है। इस बीच पता चला है कि नीरव मोदी 1 जनवरी को देश छोड़कर चला गया था। इस बीच एक बिजनेसमैन से सनसनीखेज खुलासा किया है। टाइम्स ऑफ इंडिया की एक रिपोर्ट के मुताबिक बेंगलुरु के एक बिजनेसमैन हरि प्रसाद एस वी ने 2016 में ही मेहुल चौकसी की कथित गड़बड़ियों के बारे में पीएमओ को जानकारी दी थी। बिजनेसमैन का दावा है कि पीएमओ ने उसकी शिकायत पर कोई एक्शन नहीं लिया था। मेहुल चौकसी गीतांजलि ज्वेलरी सीरीज का मालिक है। केन्द्रीय जांच एजेंसियों ने इस वक्त नीरव मोदी, उनकी पत्नी एमी, भाई निशाल और मेहुल चौकसी के खिलाफ कल 280 करोड़ रुपये की मनी लांड्रिंग का मामला दर्ज किया है। समाचार एजेंसी पीटीआई के मुताबिक मेहुल चौकसी चार जनवरी को देश छोड़कर चला गया है। हरि प्रसाद एस वी ने कहा कि यदि जुलाई 2016 में पीएमओ को किये गये उसके शिकायत पर अमल किया गया होता तो इस घोटाले का पर्दाफाश काफी पहले हो जाता।

बड़ी खबरें

हरि प्रसाद एस वी ने कहा कि इस लोगों द्वारा की गई धोखाधड़ी का परिणाम वे लोग अबतक भुगत रहे हैं। उन्होंने कहा, “वे लोग पैसे और पावर के मामले में इतने बलिष्ठ हैं कि सामान्य आदमी उनका मुकाबला नहीं कर सकता है। इस बिजनेसमैन ने कहा कि उनकी शिकायत मेहुल चौकसी के गीतांजलि ग्रुप के बारे में थी, ना कि नीरव मोदी के बारे में। हालांकि दोनों बिजनेस पार्टनर हैं, पर नीरव मोदी गीतांजलि ग्रुप में पार्टनर नहीं है। हरि प्रसाद एस वी ने कहा कि उसके मेहुल चौकसी के साथ बिजनेस ताल्लुकात थे, और उससे 13 करोड़ रुपये ठगे गये। प्रसाद ने अपने शिकायत में बताया था कि कैसे मेहुल चौकसी ने मामूली संपत्ति की बदौलत बैंकों से भारी-भरकम लोन ले रखा था। उसने अपने शिकायत में चेतावनी दी थी कि अगर इस मामले में कार्रवाई नहीं की गई तो बैंकों पर NPA (डूबे हुए कर्ज) का बड़ा भार बढ़ेगा। इस बिजनेसमैन ने कंपनी की बैलेंसशीट में खामियों को उजागर किया और उन 31 बैंकों की सूची सौंपी जिन्होंने गीतांजलि ग्रुप को लोन दिया था। हरि प्रसाद ने अपने शिकायत में लिखा, ” इस कंपनी ने अपनी 25 से 30 मात्र संपत्ति की बदौलत 9 हजार 872 करोड़ का भारी-भरकम लोन ले रखा है और यह जल्द ही NPA बनने जा रहा है।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App



Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *