shahid rajguru was rss volunteer naresh sehgal book claims-राजगुरु को स्वयंसेवक बताककर ट्रोल हो रही RSS, लोग बोले- भगत सिंह को पन्ना प्रमुख मत बता देना

राष्ट्रीय स्वयं सेवक संघ (आरएसएस) ने शहीद राजगुरु को अपना संगी बता दिया है। एक संघ प्रचारक नरेंद्र सहगल की किताब में इस बात का दावा किया गया है। नरेंद्र सहगल हरियाणा में एबीवीपी के संगठन मंत्री रहे हैं। दरअसल नरेंद्र सहगल की किताब ‘भारतवर्ष की सर्वांग स्वतंत्रता’ में लिखा गया है कि ‘सरदार भगत सिंह और राजगुरु ने अंग्रेज अफसर सांडर्स को लाहौर की मालरोड पर गोलियों से उड़ा दिया। फिर दोनों लाहौर से निकल गए। राजगुरु नागपुर आकर डॉ. हेडगेवार से मिले। राजगुरु संघ के स्वयंसेवक थे’।

सहगल की किताब में दावा किया गया है कि राजगुरु संघ की मोहित बोड़े शाखा के स्वयंसेवक थे। सहगल की लिखी किताब के अनुसार नागपुर के भोंसले वेदशाला के छात्र रहते हुए राजगुरु, संघ संस्थापक हेडगेवार के बेहद करीबी रहे। किताब में यह भी दावा किया गया है कि सुभाष चंद्र बोस भी संघ से काफी प्रभावित थे। एक खास बात यह भी है कि किताब ‘भारतवर्ष की सर्वांग स्वतंत्रता’ की भूमिका संघ प्रमुख मोहन भागवत ने लिखी है। भागवत ने लिखा है कि स्वतंत्रता संग्राम में संघ की भूमिका पर सवाल उठाने वाले लोगों को  यह किताब उचित जवाब देगी।

बड़ी खबरें

राजगुरु को संघ का संगी बताने के अलावा इस किताब में हेडगेवार का भी जमकर महिमामंडन किया गया है। हेडगेवार के बारे में लिखा गया है कि हेडगेवार ने 26 जनवरी 1930 को देश के हर प्रांत में स्वतंत्रता दिवस मनाने वाले नेहरु के आदेश पर खुशी जताते हुए पूरे देश में, खासकर संघ की शाखाओं में आजादी का दिन मनाने का निर्देश दिया था।किताब के मुताबिक महात्मा गांधी के सत्याग्रह में स्वयंसेवक ने बढ़चढ़ कर हिस्सा लिया था और खुद हेडगेवार ने भी सत्याग्रह किया था।

दरअसल आरएसएस पर शुरू से ही यह आरोप लगता रहा है कि स्वतंत्रता आंदोलन में उसकी भूमिका नहीं रही है। अब आरएसएस इस किताब को इन सारे सवालों का जवाब बता रही है। हालांकि इधर शहीद राजगुरु को संघ का संगी बताने पर लोग अब ट्विटर पर राष्ट्रीय स्वयं सेवक संघ के खिलाफ मजे ले रहे हैं। एक यूजर ने लिखा कि अभी वो लोग कह रहे हैं कि राजगुरु स्वयंसेवक थे बाद में यह लोग कहेंगे कि भगत सिंह लाहौर शाखा में पन्ना प्रमुख थे।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App




Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *