SpiceJet female crew strip-searched alleges air hostesses – स्पाइसजेट एयर होस्टेसों का आरोप- कपड़े उतरवाकर ली गई तलाशी, गलत ढंग से छुआ, सैनिटरी पैड तक हटवाया

स्‍पाइसजेट एयरलाइंस की एयरहोस्‍टेस ने शनिवार (31 मार्च) सुबह चेन्‍नई में प्रदर्शन किया। यह प्रदर्शन एयरलाइन के ही सुरक्षाकर्मियों द्वारा कथित तौर पर उनके कपड़े उतरवा कर तलाशी लिए जाने के विरोध में था। महिला कर्मचारियों ने आरोप लगाया कि पिछले कुछ दिनों से फ्लाइट से डि-बोर्ड करने के बाद कपड़े उतरवा कर उनकी तलाशी ली जा रही है। सुरक्षा कर्मचारियों ने कथित तौर पर एयर होस्‍टेस के हैंडबैग्‍स से सैनिटरी पैड्स तक निकालने को कहा।

केबिन क्रू तब काम पर वापस लौटा जब स्‍पाइसजेट मैनेजमेंट ने सोमवार को गुड़गांव ऑफ‍िस में उच्‍चस्‍तरीय बैठक कराने का आश्‍वासन दिया। एनडीटीवी की रिपोर्ट के अनुसार, केबिन क्रू के विरोध के चलते चेन्‍नई एयरपोर्ट की दो फ्लाइट्स में करीब एक घंटे की देरी हुई। कथित रूप से चेन्‍नई एयरपोर्ट पर लिया गया एक वीडियो भी सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा है। इसमें यूनिफॉर्म पहने कुछ एयरहोस्‍टेस व सादी ड्रेस में कुछ महिलाएं कपड़े उताकर तलाशी लिए जाने की शिकायत कर रही हैं।

बड़ी खबरें

वीडियो में एक महिला कहती सुनाई देती है, ”किसी ने मुझे गलत तरीके से छुआ, मैं बहुत असहज हो गई। मैं नग्‍न थी।” विरोध कर रहे केबिन क्रू का आरोप था कि एयलाइंस को शक है कि वह खाने और अन्‍य सामानों की बिक्री से मिले कैश में हेरफेर करती हैं। उन्‍होंने आरोप लगाया कि फ्लाइट्स से डि-बोर्ड करने के बाद उन्‍हें वॉशरूम जाने की इजाजत नहीं दी जाती।

एनडीटीवी से बातचीत में एक अनुभवी एयर होस्‍टेस ने कहा, ”हम एयर होस्‍टेसेस की पिछले तीन दिनों से कपड़े उतरवा कर तलाशी ली जा रही है और महिला कर्मचारी हमें गलत ढंग से छूती हैं। माहवारी के दौरान एक साथी को उसकी सैनिटरी नैपकिन हटाने को कहा गया।”

इन-फ्लाइट सर्विसेज का कामकाज देखने वाले स्‍पाइसजेट के सीनियर वाइस प्रेसिडेंट कमल हींगोरानी ने एक ईमेल में ऐसी तलाशी के लिए दर्जनों केबिन क्रू पर कैश ले जाने के शक को वजह बताया। कर्मचारियों को एक ईमेल में उन्‍होंने कहा, ”हम स्‍पॉट चेक्‍स के लिए मजबूर हुए हैं, जो कि कंपनी की एक नीति है। यह हम सबके हित में है कि हम में से बेईमानों को पहचाना जाए ताकि ईमानदारों पर आरोप न लगें।”

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App




Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *