tripura cm biplab deb says internet existed in mahabharata days – त्रिपुरा सीएम बिप्‍लब देब बोले- महाभारत के दिनों में भी था इंटरनेट, सैटेलाइट भी हुआ करते थे

त्रिपुरा के मुख्यमंत्री बिप्लब देब का कहना है कि इंटरनेट महाभारत के दिनों में भी हुआ करता था। एक जनसभा को संबोधित को करते हुए बिप्लब देब ने कहा कि ‘भारत काफी पुराने समय से इंटरनेट का इस्तेमाल कर रहा है। महाभारत के दिनों में संजय दृष्टिहीन थे, लेकिन वह युद्ध में होने वाली सभी घटनाओं को धृतराष्ट्र को सुना रहे थे। यह इंटरनेट और तकनीक से ही संभव हुआ था।’ बिप्लब देब ने आगे कहा कि ‘उस समय सैटेलाइट भी हुआ करती थी।’ बता दें कि त्रिपुरा के नए सीएम चुने गए बिप्लब देब को मुख्यमंत्री बने एक माह पूरा हो गया है। पीएम मोदी की तारीफ करते हुए बिप्लब देब ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने देश में डिजिटलीकरण को बढ़ावा दिया है, जिससे देश में हर व्यक्ति की इस तक पहुंच हुई है। पीएम मोदी के सोशल मीडिया पर एक्टिव रहने की तारीफ करते हुए बिप्लब देब ने कहा कि मोदी लोगों के बीच फेसबुक, व्हाटसएप और ट्विटर के इस्तेमाल के लिए भी जाने जाते हैं। बिप्लब देब ने विभिन्न राज्यों के सीएम द्वारा सोशल मीडिया पर लगातार अपडेट करने की तारीफ भी की।

संबंधित खबरें

बिप्लब देब ने ये बातें अगरतला के प्रगना भवन पीडीएस सिस्टम के एक कार्यक्रम के दौरान कहीं। त्रिपुरा के नवनियुक्त सीएम ने आगे कहा कि हम लोग की संस्कृति और सभ्यता काफी पुरानी है और हम पुराने समय से ही टेक्नोलॉजी का इस्तेमाल कर रहे हैं। कई भारतीयों के बड़ी बड़ी टेक कंपनियों में काम करने की बात कहते हुए बिप्लब देब ने कहा कि कई बड़ी टेक्नोलॉजी कंपनियों जैसे माइक्रोसॉफ्ट आदि के पीछे भी भारतीय हैं, जहां वो लोग इंजीनियरिंग के क्षेत्र में अहम योगदान दे रहे हैं। सीएम ने कहा कि उन्हें गर्व है कि वह एक ऐसे देश में पैदा हुए, जो तकनीक के क्षेत्र में इतना आगे है।

बिप्लब देब का यह बयान ऐसे वक्त आया है, जब पिछले दिनों भाजपा के केन्द्रीय मंत्री सत्यपाल सिंह ने कहा था कि चार्ल्स डार्विन की उत्पत्ति की थ्योरी गलत है और इसे बदले जाने की जरुरत है। सत्यपाल सिंह ने कहा कि जब से मनुष्य इस धरती पर देखा गया है, वह हमेशा से ही मनुष्य ही था। जैसा कि कहा या लिखा गया है कि एक एप धीरे-धीरे मनुष्य में तब्दील हुआ, यह गलत है।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App



Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *