Unnav Gangrape: Uttar Pradesh CM Yogi Adityanath, Allahabad High Court, MLA Kuldeep Singh Sengar, CBI Probe – उन्‍नाव गैंगरेप: पिछले साल सीएम योगी को की गई थी शिकायत, हाई कोर्ट ने कहा- एक्‍शन लेते तो पीड़िता का पिता नहीं मरता

quit

उत्तर प्रदेश के उन्नाव गैंगरेप मामले में इलाहाबाद हाई कोर्ट ने कहा है कि अगर साल भर पहले सीएम योगी आदित्यनाथ के कार्यालय की तरफ से एक्शन के नाम पर रस्म अदायगी भर नहीं होती और सख्त कार्रवाई होती तो पीड़िता का पिता नहीं मरता। इस टिप्पणी के साथ ही हाई कोर्ट के चीफ जस्टिस दिलीप बी भोसले ने शुक्रवार को बीजेपी विधायक कुलदीप सिंह सेंगर को गिरफ्तार करने का आदेश सीबीआई को दिया। राज्य की योगी आदित्यनाथ सरकार पर आरोपी विधायक को संरक्षण देने के आरोप लग रहे थे। शुक्रवार को ही सीबीआई ने आरोपी विधायक को हिरासत में लेकर पूछताछ की फिर कोर्ट के आदेश पर गिरफ्तार कर लिया। विधायक के खिलाफ तीन केस दर्ज किए गए हैं।

इलाहाबाद हाईकोर्ट ने कहा है कि पीड़ित पक्ष द्वारा पिछले साल 17 अगस्त, 2017 को ही सीएम योगी आदित्यनाथ से आरोपी विधायक कुलदीप सिंह सेंगर की शिकायत की गई थी लेकिन पुलिस ने कोई कार्रवाई नहीं की। हालांकि, सीएम के स्पेशल सेक्रेटरी की तरफ से उन्नाव के एसपी को इस बाबत चिट्ठी भेजी गई थी। इधर, सीएम योगी आदित्यनाथ का कहना है कि इस मामले में उन्हें पहली जानकारी इस साल 9 अप्रैल को मिली। इसके बाद तुरंत मामले की जांच के लिए स्पेशल इन्वेस्टिगेशन टीम (एसआईटी) का गठन किया गया। फिर बाद में मामले को सीबीआई को सौंप दिया गया।

संबंधित खबरें

इधर, केंद्रीय गृह मंत्री और यूपी के पूर्व मुख्यमंत्री राजनाथ सिंह ने शुक्रवार को एक इंटरव्यू में कहा कि नाबालिग के साथ रेप के मामलों में तुरंत प्राथमिकी दर्ज की जानी चाहिए। सिंह ने कहा कि उन्नाव मामले में अब सीएम ने जांच कमेटी गठित कर दी है कि क्यों इसकी प्राथमिकी दर्ज नहीं हो सकी। उन्होंने इस घटना को शर्मनाक और दुखद करार दिया। बता दें कि इस मामले में जिन लोगों के कंधों पर जांच करने और कार्रवाई करने की जिम्मेदारी थी, ऐसे लोग आरोपी विधायक कुलदीप सिंह सेंगर के इशारों पर नाच रहे थे। मामले में एक डॉक्टर भी जांच के घेरे में है, जिसने पीड़ित के पिता की मेडिकल जांच करने की जगह उसका मजाक बनाया था। पीड़ित के पिता को विधायक के भाई और गुंडों ने पीटा था, जिससे बाद में उनकी मौत हो गई थी।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App



Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *